Wednesday , December 13 2017

हलक़ा असेंबली महबूबनगर में बी जे पी की मुस्लिम दुश्मनी बेनकाब

असेंबली हलक़ा महबूब नगर में महज़ टी आर इस के मुस्लिम उमेदवार को बर्दाश्त ना करते हुए बी जे पी गुमराह कुन प्रोपगंडा चला रही है । मुस्लिम उम्मीदवार को कामयाब बनाने पर महबूब नगर पुराने शहर में तब्दील होजाने और रज़ाकारों के द्वरिका

असेंबली हलक़ा महबूब नगर में महज़ टी आर इस के मुस्लिम उमेदवार को बर्दाश्त ना करते हुए बी जे पी गुमराह कुन प्रोपगंडा चला रही है । मुस्लिम उम्मीदवार को कामयाब बनाने पर महबूब नगर पुराने शहर में तब्दील होजाने और रज़ाकारों के द्वरिका एहया-ए-होने का दावा करते हुए राय दहिंदों में नफ़सियाती ख़ौफ़ पैदा किया जा रहा है ।

इमतिहान की घड़ी में राय दहिंदों को बिलख़सूस मुस्लमानों को फैसला करने में दानिशमंदी का सबूत देने की ज़रूरत है । तेलंगाना जवाइंट एक्शन कमेटी की ख़ामोशी भी मानी ख़ेज़ है । इलाक़ा तेलंगाना में 6 असेंबली हलक़ों पर ज़िमनी इंतेख़ाबात मुनाक़िद होरहे हैं मगर सारी रियासत बिलख़सूस तेलंगाना अवाम की नज़र असेंबली हलक़ा महबूबनगर पर मर्कूज़ है ।

तेलंगाना की तहरीक में मुस्लमानों का भी बराबर का हिस्सा है ताहम बड़ी सयासी जमातों ने एक हलक़ा से भी मुस्लमान को उम्मीदवार नहीं बनाया है हालाँकि इन जमातों में मौजूद मुस्लिम क़ाइदीन ने टिकट हासिल करने के लिए अपनी तरफ़ से हर मुम्किन कोशिश की है । सिर्फ टी आर इस ने असेंबली हलक़ा महबूबनगर से मिस्टर सय्यद इब्राहीम को अपना उम्मीदवार बनाया है जो 2009 के आम इंतेख़ाबात में मामूली वोटों से शिकस्त से दो-चार हुए थे ।

तेलंगाना के 6 असेंबली हलक़ों के ज़िमनी इंतेख़ाबात में 5 हलक़ों को नजरअंदाज़ करते हुए सिर्फ मुस्लिम उम्मीदवार को असेंबली में क़दम रखने से रोकने केलिए बी जे पी इंतिख़ाबी मैदान में कूद पड़ी है ।बी जे पी के क़ौमी-ओ-सरकरदा क़ाइदीन महबूब नगर का दौरा करते हुए सिर्फ अपने उम्मीदवार की कामयाबी केलिए अमन का गहवाराह कहलाने वाले महबूबनगर असेंबली हलक़ा में फ़िर्कापरस्ती का ज़हर फैलाने की कोशिश कररहे हैं।

बी जे पी क़ाइदीन इंतिख़ाबी मुहिम चलाते हुए राय दहिंदों में ख़ौफ़ पैदा कर रहे हैं कि अगर टी आर इस का मुस्लिम उम्मीदवार सय्यद इब्राहीम कामयाब होजाता है तो महबूबनगर हैदराबाद के पुराने शहर में तब्दील होजाएगा और रज़ाकारों के दौर का एहया होजाएगा । बी जे पी फ़िर्का परस्ती के तमाम हथकंडे इस्तिमाल कर रही है मगर महबूबनगर के अवाम बाशऊर हैं उन्हों ने फ़िर्का परस्ती पर हमेशा सैकूलर अज़म और बुराई पर अच्छाई को तरजीह दी है ।

असेंबली हलक़ा महबूब नगर में मुस्लमान ताक़तवर मौक़िफ़ रखते हैं और मुस्लमानों की ताईद के बगैर कोई भी जमात कामयाब नहीं हो सकती । मुस्लमानों को भी इत्तिहाद का सबूत देने की ज़रूरत है । दो दिन कब्ल गुंटूर में एक तबक़ा की नुमाइंदगी करने वाले तमाम सयासी जमातों के अवामी मुंतख़ब नुमाइंदों ने एक प्लेटफार्म पर इकट्ठा होते हुए अपने आपसी इत्तिहाद का सबूत दिया है ।

रियासती वज़ीर डाक्टर जय गीता रेड्डी के ख़िलाफ़ सी पी आई के रियासती सिक्रेट्री डाक्टर के ना रायना के रिमार्कस पर दलित तनज़ीमों ने ना रायना आग का पुतला नज़र-ए-आतिश किया है। एसा ही इत्तिहाद मुस्लमानों में वक़्त का तक़ाज़ा है । इलाक़ा तेलंगाना से असेंबली में मुस्लिम नुमाइंदे को रवाना करने केलिए महबूबनगर असेंबली हलक़ा के अवाम के पास सुनहरी मौक़ा है ।

इलाक़ा तेलंगाना के तमाम मुस्लमान महबूबनगर असेंबली हलक़ा के अक़ल्लीयतों बिलख़सूस मुस्लमानों पर नज़रें जमाए हुए हैं । महबूबनगर के मुस्लमान आपस में इत्तिहादका सबूत दें और बी जे पी का सख़्त मुक़ाबला करने वाले सय्यद इब्राहीम को कामयाब बनाएं।

TOPPOPULARRECENT