हाईकोर्ट की जल्द तक़सीम और मुअत्तल जजस को फ़ौरी बहाल करने कांग्रेस का मुतालिबा

हाईकोर्ट की जल्द तक़सीम और मुअत्तल जजस को फ़ौरी बहाल करने कांग्रेस का मुतालिबा

हैदराबाद 30 जून: क़ाइद अप्पोज़ीशन तेलंगाना क़ानूनसाज़ कौंसिल मुहम्मद अली शब्बीर ने दिल्ली में मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून सदानंद गौड़ से मुलाक़ात करते हुए जल्द अज़ जल्द हाईकोर्ट तक़सीम करने का मुतालिबा किया और मुअत्तल करदा जजस को दुबारा बहाल करने पर-ज़ोर दिया।

मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून से मुलाक़ात के दौरान कांग्रेस के अरकान राज्य सभा पी गोवर्धन रेड्डी, आनंद भास्कर तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के ख़ाज़िन जी नारायण रेड्डी भी मौजूद थे। बादअज़ां मीडिया से बातचीत करते हुए मुहम्मद अली शब्बीर ने कहा कि अलाहिदा रियासत तेलंगाना की तशकील के 2 साल की तकमील के बावजूद हाईकोर्ट की तक़सीम हनूज़ अमल में नहीं आई है। हाईकोर्ट की तक़सीम से पहले ही जजस के अलावा दूसरे ओहदों पर तक़र्रुत किए जा रहे हैं जिससे तेलंगाना के जजस के साथ नाइंसाफ़ी हो रही है। इन नाइंसाफ़ीयों के ख़िलाफ़ वुकला बिरादरी लंबे अर्से से एहतेजाज कर रहे हैं मगर उनकी आवाज़ सुनी नहीं जा रही है। एहतेजाज में हिस्सा लेने और ताईद करने वाले जजस को मुअत्तल करते हुए वुकला बिरादरी में मज़ीद नाराज़गी पैदा कर दी गई है।

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना केसीआर इस पर फ़ौरी रद्द-ए-अमल का इज़हार करने की बजाये ख़ामोशी इख़तियार कर रहे हैं। हाईकोर्ट की तक़सीम से पहले मर्कज़ी हुकूमत को मनवाने और पड़ोसी रियासत आंध्र प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर चंद्रबाबू नायडू से बात चीत करने में पूरी तरह नाकाम हो गए हैं।

Top Stories