Wednesday , November 22 2017
Home / Khaas Khabar / हाजी अली में औरतों को प्रवेश की इजाजत देगा दरगाह का प्रबंधन

हाजी अली में औरतों को प्रवेश की इजाजत देगा दरगाह का प्रबंधन

मुंबई : मुंबई के हाज़ी अली दरगाह का प्रबंधन करने वाले ट्रस्ट ने कहा है कि वो दरगाह में महिलाओं को पुरुषों के बराबर प्रवेश का अधिकार देगा. सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए हाज़ी अली ट्रस्ट को चार हफ़्ते का समय दिया है. गौरतलब है की दरगाह का प्रबंधन औरतों को दरगाह में प्रवेश के खिलाफ था, लेकिन बाम्बे हाई कोर्ट ने 26 अगस्त को अपने फ़ैसले में महिलाओं को हाजी अली दरगाह में मज़ार के भीतर तक जाने की इजाजत दे दी थी. कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और हाजी अली दरगाह ट्रस्ट को मजार तक जाने वाली महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए हैं। कुछ वर्ष पहले तक मजार तक महिलाएं भी जाया करती थीं। लेकिन, मार्च, 2012 के बाद दरगाह ट्रस्ट ने मजार तक महिलाओं के जाने पर प्रतिबंध लगा दिया।

हाई कोर्ट के इस फ़ैसले को हाजी अली ट्रस्ट ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. कोर्ट ने कहा था, “महिलाओं को हाजी अली दरगाह की मजार तक जाने से रोकना संविधान के अनुच्छेद 14 (समानता), 15 (धर्म, लिंग आदि के आधार पर भेदभाव का निषेध), 19 (कहीं भी आने-जाने की स्वतंत्रता), 21 (व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार) और 25 (धर्म को मानने एवं प्रचार की स्वतंत्रता) के विरुद्ध है। पुरुषों की तरह महिलाओं को भी मजार तक जाने की इजाजत दी जानी चाहिए।” इस दरगाह में महिलाओं को सिर्फ़ बाहर तक ही जाने की इजाजत है. उन्हें मज़ार तक जाने की इजाजत नहीं है. मुस्लिम महिला आंदोलन नाम की एक संस्था ने हाजी अली ट्रस्ट की इस व्यवस्था को बाम्बे हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर चुनौती दी थी.

TOPPOPULARRECENT