Saturday , December 16 2017

हाफिज सईद को तुरंत गिरफ्तार करे पाकिस्तान वरना गंभीर नतीजे भुगतने होंगे : अमेरिका

वॉशिंगटन.अमेरिका ने 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को तुरंत गिरफ्तार करने के लिए कहा है। अमेरिका ने पाक को वॉर्निंग दी है कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो गंभीर नतीजे भुगतने होंगे। ये भी कहा कि हाफिज की रिहाई को कतई सही नहीं ठहराया जा सकता। पाक को आतंकी गुटों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। यह भी कहा कि पाक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में गंभीरता दिखाए। हाल ही में लाहौर हाईकोर्ट ने हाफिज को नजरबंदी से रिहा करने का आदेश दिया था। हाफिज 10 महीने से अपने घर में ही नजरबंद था।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी सारा सेंडर्स ने कहा, “अमेरिका लश्कर-ए-तैयबा आतंकी हाफिज सईद को रिहा करने की निंदा करता है। हम चाहते हैं कि उसे दोबारा से अरेस्ट किया जाए और उस पर केस चलाया जाए।”

“पाकिस्तान के हाफिज को रिहा करने से गलत मैसेज गया है। पाक कहता रहा है कि इंटरनेशनल टेररिज्म से लड़ाई को लेकर कमिटेड है और वह अपनी जमीन पर आतंकियों को पनपने नहीं देगा। लेकिन हाफिज की रिहाई से ये गलत साबित हुआ।”

“अगर पाकिस्तान सईद को उसके अपराधों के लिए सजा नहीं देता तो इससे उसके बाइलेटरल रिलेशन पर असर पड़ेगा और इंटरनेशनल लेवल पर उसकी इमेज पर असर पड़ेगा।”

“डोनाल्ड ट्रम्प की साउथ एशिया पॉलिसी एकदम साफ है। हम पाक के साथ बेहतर रिश्ते रखना चाहते हैं। लेकिन हम ये भी चाहते हैं कि पाक आतंकी गुटों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे और आतंकियों को अपनी जमीन पर पनाह न दे। हाफिज की रिहाई को कतई सही नहीं ठहराया जा सकता।”

और हाफिज सईद के बोल…

“भारत की तमाम कोशिशों के बावजूद मुझे रिहा कर दिया गया। 10 महीने तक मुझे इसलिए कैद किया गया था, ताकि कश्मीर को लेकर मेरी आवाज दबाई जा सके।” हाफिज ने रिहाई का जश्न बाकायदा केक काटकर मनाया था।

“मैं कश्मीरियों और कश्मीर की आजादी के लिए लड़ता रहूंगा। कश्मीर के लिए मैं पूरे पाकिस्तान से लोगों को इकट्ठा करता रहूंगा। हमारी कोशिश रहेगी कि कश्मीरी आजादी के अपने मकसद में कामयाब हो सकें।”

“मुझे खुशी है कि मेरे खिलाफ कोई आरोप साबित नहीं हो सका। लिहाजा, हाईकोर्ट के तीन जजों ने रिहाई का ऑर्डर दे दिया। भारत मुझ पर आधारहीन आरोप लगाता रहा है। कोर्ट का फैसला मेरी बेगुनाही साबित करता है।”

“मुझे अमेरिका के दबाव में नजरबंद किया गया था। इसके लिए भारत सरकार ने अमेरिका से गुहार लगाई थी।”

“मैं कहना चाहता हूं कि भारत न तो मुझे और न ही कश्मीर को कोई नुकसान पहुंचा सकता है। जल्द ही हम कश्मीर को आजाद करा लेंगे।”

TOPPOPULARRECENT