Saturday , September 22 2018

हामिद अंसारी को सदर जम्हूरीया बनाने सयासी सरगर्मीयों में शिद्दत

सदर आर जे डी लालू प्रसाद यादव ने आज कहा कि इन की पार्टी सदर जम्हूरीया की हैसियत से नायब सदर जम्हूरीया हामिद अंसारी की उम्मीदवारी की हिमायत करेगी। सदारती उम्मीदवार के लिए हामिद अंसारी की ताईद करने के लिए सयासी सरगर्मीयां तेज़ हो गई

सदर आर जे डी लालू प्रसाद यादव ने आज कहा कि इन की पार्टी सदर जम्हूरीया की हैसियत से नायब सदर जम्हूरीया हामिद अंसारी की उम्मीदवारी की हिमायत करेगी। सदारती उम्मीदवार के लिए हामिद अंसारी की ताईद करने के लिए सयासी सरगर्मीयां तेज़ हो गई हैं।

लालू प्रसाद यादव ने पार्लीमेंट के बाहर अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि हमारे नायब सदर जम्हूरीया हामिद अंसारी को ही सदर जम्हूरीया बनाया जाना चाहीए, वो सदारती ओहदा के लिए बेहतरीन उम्मीदवार हैं, उन्हें सदर जम्हूरीया की हैसियत से तरक़्क़ी दी जानी चाहीए।

साबिक़ सदर जम्हूरीया ए पी जे अब्दुल कलाम के बारे में इन की पार्टी के मौक़िफ़ से मुताल्लिक़ पूछे गए सवाल पर आर जे डी लीडर ने कहा कि अब्दुल कलाम पहले ही इस जलील-उल-क़दर ओहदा पर फ़ाइज़ रह चुके हैं अब हामिद अंसारी को ये ओहदा दिया जाना चाहीए क्योंकि वो एक काबिल शख़्स हैं, राज्य सभा में इन की कारकर्दगी भी बेहतरीन रही है।

सदारती इंतेख़ाब जुलाई में मुनाक़िद होगा। यू पी ए को दीगर पार्टीयों पर इन्हेसार करना पड़ेगा क्योंकि सदर जम्हूरीया को मुंतखिब करने के लिए इसके पास मतलूब अक्सरीयत नहीं है। बी एस पी सरबराह मायावती ने कहा कि इस मौज़ू पर तब्सिरा करना क़ब्ल अज़ वक़्त होगा, पहले उम्मीदवार के नाम का ऐलान करने दिया जाए इसके बाद हम अपने मौक़िफ़ को वाज़िह करेंगे।

बी जे पी लीडर राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं किसी इन्फ़िरादी शख़्स के लिए तब्सिरा करना नहीं चाहता लेकिन हमारा ख़्याल है कि सदारती उम्मीदवार पर तमाम सयासी पार्टीयों में इत्तेफ़ाक़ राय होना चाहीए। जनता दल यू के लीडर शरद यादव ने कहा कि वो इस मसला पर कोई तब्सिरा करना नहीं चाहते, पहले इस मसला पर मुज़ाकरात तो होने दीजिए।

समाजवादी पार्टी ने सदारती उम्मीदवार के लिए किसी नाम पर अभी तक कोई फ़ैसला नहीं किया है। समाजवादी पार्टी के सदर मुलायम सिंह यादव ने आज कहा कि वो अपनी पार्टी के रफ़ीक़ शाहिद सिद्दीक़ी की जानिब से ए पी जे अब्दुल कलाम की हिमायत करने पर ख़ुद को दूर रखते हैं क्योंकि ये उन की ज़ाती राय है, पार्टी ने अभी इस मसला पर कोई फ़ैसला नहीं किया है।

मुलायम सिंह यादव ने सदारती इंतेख़ाब के लिए समाजवादी पार्टी की हिमायत से मुताल्लिक़ पूछे जाने पर कहा कि इन की पार्टी ने अभी कोई फ़ैसला नहीं किया है। जब उन की तवज्जा उन की पार्टी के रफ़ीक़ शाहिद सिद्दीक़ी की जानिब से अब्दुल कलाम की हिमायत किए जाने की जानिब मबज़ूल करवाई गई तो मुलायम सिंह यादव ने उसे मुस्तर्द कर दिया और कहा कि हो सकता है कि ये उनकी ज़ाती राय हो लेकिन पार्टी ने अभी तक अपना ज़हन नहीं बनाया है।

शाहिद सिद्दीक़ी ने भी इस मौज़ू पर क़ब्ल अज़ीं दिए गए अपने ब्यान से इन्हेराफ़ किया और दावा किया कि मीडीया ने उनके ब्यान को ग़लत तरीक़ा से पेश किया है।

TOPPOPULARRECENT