हारे हुए कांग्रेसियों को टिकट नहीं: राहुल गांधी

हारे हुए कांग्रेसियों को टिकट नहीं: राहुल गांधी
उसे कांग्रेसी क़ाइदीन जिन्होंने साल 2009 में लोक सभा इलेक्शन में मुक़ाबला किया था उनके लिए बुरी ख़बर है कि पार्टी के नायब सदर राहुल गांधी ने पार्टी टिकट के ख़ाहिशमंद उम्मीदवारों के लिए नए उसूल-ओ-ज़वाबत बयान‌ किए हैं।

उसे कांग्रेसी क़ाइदीन जिन्होंने साल 2009 में लोक सभा इलेक्शन में मुक़ाबला किया था उनके लिए बुरी ख़बर है कि पार्टी के नायब सदर राहुल गांधी ने पार्टी टिकट के ख़ाहिशमंद उम्मीदवारों के लिए नए उसूल-ओ-ज़वाबत बयान‌ किए हैं।

ज़राए के मुताबिक़ राहुल गांधी ने हिदायत दी है कि 2009 में जिन उम्मीदवार को पार्टी टिकट पर एक लाख वोटों के फ़र्क़ से हार‌ हुई थी उन्हें टिकट नहीं दिया जाएगा। इतना ही नहीं उसे क़ाइदीन जो दो मर्तबा मुसलसल हार‌ का सामना करचुके हैं उन्हें कांग्रेसी उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा। राहुल गांधी चाहते हैं कि इस महीने के बीच‌ तक कम से कम 200 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान करदिया जाये, लेकिन इस अमल में काफ़ी देर‌ होरही है जिससे वो नाराज़ हैं।

उन्होंने कहा कि इस काम को जितनी जल्द मुम्किन हो अंजाम दिया जाये। मुख़्तलिफ़ रियासतों की स्क्रीनिंग कमेटियों ने गुजिश्ता दो हफ़्तों में कई बार इजलास किया लेकिन सोनिया गांधी की सदारत वाली सेंटर्ल इलेक्शन कमेटी (सी ई सी) ने कोई इजलास नहीं किया। हालाँकि इस हवाले से जुमेरात को इजलास होने का इमकान है।

बताया जाता है कि पार्टी अरकान की मस्रूफ़ियत और तलंगाना मसला की वजह से ये इजलास एक फ़रव‌री के बाद भी नहीं हो पाया है। ज़राए ने बताया कि जहां-जहां पार्टी कमज़ोर रही है और उनके उम्मीदवार कामयाबी हासिल नहीं करसके उन्हें मौक़ा फ़राहम नहीं किया जाएगा। इस बार उन इलाक़ों में उम्मीदवारों के नाम सब से पहले ऐलान किए जाएंगे ताकि उम्मीदवार को मुनासिब वक़्त फ़राहम होसके।

इसके बाद ही दीगर नशिस्तों का फैसला होगा। पार्टी चाहती है कि इलेक्शन कमिशनर के इंतिख़ाबी ऐलानात से पहले ज़्यादा से ज़्यादा उम्मीदवारों के नामों का ऐलान करदिया जाये। वाज़िह रहे कि लोक सभा इंतिख़ाबात अप्रेल या मई में होसकते हैं। राहुल गांधी ये भी चाहते हैं लोक सभा नशिस्तों पर खड़े किए जाने वाले उम्मीदवारों के बारे में ग़ैर जांबदाराना राय उन्हें वक़्त सेपहले हासिल होजाए।

Top Stories