Saturday , December 16 2017

‘हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस’ में शामिल होने उरी हमले के बाद सरताज अजीज पहली बार आएंगे भारत

इस्लामाबाद : दिसंबर में अफगानिस्तान पर होने वाले ‘हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस’ में शामिल होने के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज भारत की यात्रा करेंगे |

सरताज अजीज ने कहा है कि यह यात्रा भात-पाक के बीच के तनाव ‘खत्म’ करने का एक ‘अच्छा मौका’ होगा | बहरहाल, अजीज ने कहा कि अभी यह तय नहीं है कि क्या वह सम्मेलन से इतर अपने भारतीय समकक्ष से मुलाकात करेंगे या नहीं| अजीज ने मीडिया से कहा कि पाकिस्तान में होने वाले दक्षेस शिखर सम्मेलन से हट कर भारत ने इस सम्मेलन को बेकार कर दिया | लेकिन उसके बरखिलाफ भारत में होने वाले हार्ट ऑफ एशिया में शिरकत कर पाकिस्तान इसका जवाब देगा |

रिपोर्ट में बताया गया है कि अजीज ने यह भी कहा कि वह भारत की ‘गलती’ नहीं दोहराएंगे जिसने दक्षेस शिखर सम्मेलन का बायकाट किया था | वह खुद हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में हिस्सा लेंगे  | एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि अगर अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कश्मीर विवाद हल करने में मदद करते हैं तो वह नोबेल पुरस्कार के पात्र होंगे |

अफगानिस्तान पर यह सम्मेलन तीन दिसंबर को अमृतसर में आयोजित होने वाला है। अगर अजीज इस सम्मेलन में आए तो वह 10 सितंबर के उरी आतंकवादी हमलों के बाद भारत की यात्रा करने वाले पहले वरिष्ठ पाकिस्तानी अधिकारी होंगे | उरी हमले के बाद  भारत नवंबर में प्रस्तावित दक्षेस शिखर सम्मेलन से हट गया था |

TOPPOPULARRECENT