Sunday , November 19 2017
Home / Khaas Khabar / हिंदी दिवस: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राजनाथ सिंह ने हिंदी को बढ़ावा देने का लोगों से किया आग्रह

हिंदी दिवस: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राजनाथ सिंह ने हिंदी को बढ़ावा देने का लोगों से किया आग्रह

नई दिल्ली: बुधवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि हिन्दी विश्व स्तर पर पर एक प्रभावशाली भाषा बन गयी है और आशा व्यक्त की कि देश में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में हिंदी और अन्य भारतीय भाषाओं में व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जायेगा |
हिंदी दिवस के अवसर पर एक समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि जीवन के सभी क्षेत्रों में हिन्दी का  महत्व को पिछले कुछ वर्षों में कई गुना बढ़ गया है और ये भाषा अब विभिन्न देशों में कई प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में पढ़ायी जाती है।

मुखर्जी ने आशा व्यक्त की कि हिन्दी और देश की क्षेत्रीय भाषाओं को जीवन के विभिन्न क्षेत्रों विज्ञान, प्रौद्योगिकी, आदि में इस्तेमाल किया जाएगा,उन्होंने कहा कि “मैं हर किसी से अपील करता हूँ कि हिंदी के अधिक प्रचार के लिए इसे अपने रोजमर्रा के जीवन में इस्तेमाल करें |
राष्ट्रपति ने कहा कि हिंदी भारतीयता की आत्मा है और एक लिंक भाषा के रूप में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। “हम अन्य भारतीय क्षेत्रीय भाषाओं को हिंदी साहित्य के अनुवाद के लिए प्रोत्साहित करना है। ये हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं के बीच संबंधों को मज़बूत करेगा |
राष्ट्रपति ने लोगों से विभिन्न संस्कृतियों के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और साहित्यिक पहलुओं को जानने का आह्वान किया । उन्होंने कहा कि जब भारत के लोगों की समझ में आ जायेगा कि हमारा अतीत और वर्तमान एक है, हमारा साहित्य और संस्कृति एक है, तभी राष्ट्रीय एकता को मजबूत किया जा सकेगा ।
समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ लोग निहित स्वार्थों के लिए भाषा के नाम पर देश में एक दरार पैदा करने की कोशिश की जा रही है | हमें इससे सतर्क रहना होगा |
सिंह ने कहा कि गैर-हिन्दी भाषी नेता महात्मा गांधी, बाल गंगाधर तिलक, श्यामा प्रसाद मुखर्जी आदि चाहते थे कि हिन्दी को एक राष्ट्रीय भाषा के रूप में घोषित किया जाए |

गृह मंत्री ने कहा कि तमिल संस्कृत के बाद भारत में सबसे पुरानी भाषा माना जाता है और  हिन्दी  देश में सबसे अधिक संख्या में लोगों के द्वारा बोली जाती है। उन्होंने यह भी कहा कि हिन्दी दुनिया के पांच सबसे शीर्ष बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। सिंह ने कहा कि हिन्दी देश भर में ग्रामीण क्षेत्रों में आम भाषा है।

अपने भाषण में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि वो दिन दूर नहीं जब ये भाषा हर नुक्कड़ और देश के कोने में जाएगी

समारोह में लगभग 50 व्यक्तियों और संगठनों को हिंदी को बढ़ावा देने और इसके प्रचार-प्रसार के लिए सम्मानित किया गया।

TOPPOPULARRECENT