Wednesday , December 13 2017

हिंदुत्तव परस्त पार्लीमेंट की तशकील ज़रूरी

इलहाबाद, 02 फरवरी: ( पी टी आई) विश्वा हिंदू परिषद ने आज दावा किया कि राम जन्मभूमि तनाज़ा किसी अदालत के ज़रीया नहीं बल्कि सिर्फ़ पार्लीमेंट के ज़रीये हल किया जा सकता है और वो महाकुंभ मेला में इस बात को यक़ीनी बनाने की कोशिश करेगी कि हिंदुओ

इलहाबाद, 02 फरवरी: ( पी टी आई) विश्वा हिंदू परिषद ने आज दावा किया कि राम जन्मभूमि तनाज़ा किसी अदालत के ज़रीया नहीं बल्कि सिर्फ़ पार्लीमेंट के ज़रीये हल किया जा सकता है और वो महाकुंभ मेला में इस बात को यक़ीनी बनाने की कोशिश करेगी कि हिंदुओं के जज़बात के त्यीं हस्सास उम्मीदवारों की कसीर तादाद मुंतख़ब की जाये ।

विश्वा हिंदू परिषद के लीडर अशोक सिंघल ने आज यहां अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि अयोध्या में मुजव्वज़ा राम मंदिर की तामीर क़ानूनी पेचीदीयों के सबब तात्तुल का शिकार हो गई है । वी एच पी का हमेशा ही ये ईक़ान रहा है कि इस मसला को अदालतों के ज़रीया नहीं बल्कि सिर्फ़ पार्लीमेंट के ज़रीया हल किया जा सकता है ।

उन्होंने मज़ीद कहा कि हम एक हिंदुत्तव वादी संसद (हिंदुत्तव परस्त पार्लीमेंट) चाहते हैं । जहां मुंतख़ब अरकान हिंदुओं के जज़बात के त्यीं हस्सास हो । वी एच पी लीडर ने कहा कि हिंदूत्तव परस्त पार्लीमेंट के इंतेख़ाब का मक़सद हासिल करने के लिए कुंभ मेला में आइन्दा हफ़्ता कोशिशें शुरू कर दी जाएंगी ।

हम इस बात को यक़ीनी बनाने की कोशिश करेंगे कि हिंदुओं के जज़बात के त्यीं अच्छे एहसासात रखने वाले उम्मीदवार ख़ातिरख़वाह तादाद में पार्लीमेंट के लिए मुंतख़ब किए जाएं । इस सवाल पर कि गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी को बी जे पी में वज़ारत-ए-उज़मा का उम्मीदवार बनाए जाने की सूरत में ये मक़सद हासिल हो सकता है ?

सिंघल ने जवाब दिया कि ये बी जे पी का दाख़िली मुआमला है ।

TOPPOPULARRECENT