हिंदुत्व का मतलब खाना और कोई क्या पहनेगा यह तय करना नहीं है- RSS प्रमुख

हिंदुत्व का मतलब खाना और कोई क्या पहनेगा यह तय करना नहीं है- RSS प्रमुख

नई दिल्ली। RSS प्रमुख भागवत ने एक प्रोग्राम के दौरान कहा है कि हिंदुत्व का मतलब यह नहीं है कि किसी को क्या पहनना या खाना चाहिए, बल्कि दूसरे कैसे हैं उसे स्वीकार करना है।

असहिष्णुता और मॉरल पुलिसिंग पर चल रही बहस पर संघ प्रमुख ने साफ कहा कि हिंदुत्व का मतलब खाना और कोई क्या पहनेगा यह तय करना नहीं है। मोहन भागवत ने बताया कि कभी-कभी संघ और भाजपा का एजेंडा एक ही होता है।

यह सामान्य बात है। संघ हमेशा बेहतर इंसान बनाने के मिशन पर काम करता आया है। संघ स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्राम विकास जैसे विभिन्न क्षेत्रों में 1.70 लाख सेवा कार्यों का संचालन करता है।

Top Stories