Friday , December 15 2017

हिंदूस्तानी फ़िज़ाईया से मिग तैय्यारों की अलहैदगी

हिंदूस्तानी वज़ीर-ए-दिफ़ा ए के अनटोनी ने कहा है कि मुतवातिर हादिसात का शिकार होने वाले मिग 21 तैय्यारों को 2014 से मरहला वार फ़िज़ाईया से अलग करने का आग़ाज़ होगा और फ़िज़ाईया को तैय्यारे की जदीद तरीन अगली नसल से लैस किया जाएगा।

हिंदूस्तानी वज़ीर-ए-दिफ़ा ए के अनटोनी ने कहा है कि मुतवातिर हादिसात का शिकार होने वाले मिग 21 तैय्यारों को 2014 से मरहला वार फ़िज़ाईया से अलग करने का आग़ाज़ होगा और फ़िज़ाईया को तैय्यारे की जदीद तरीन अगली नसल से लैस किया जाएगा।

हिंदूस्तानी मीडीया रिपोर्ट के मुताबिक़ इन ख़्यालात का इज़हार उन्होंने वज़ारत-ए-दिफ़ा में सरकारी ऐरो स्पेस कंपनी हिंदूस्तान ऐरोनौटिक्स लिमीटेड (aeronautics limited) पर पारलीमानी राबिता कमेटी के इजलास से ख़िताब में किया।

उन्होंने कहा कि मिग 21 तैय्यारे जो कि फ़िज़ाईया के बेड़े में तक़रीबन चालीस फ़ीसद नुमाइंदगी करते हैं। उन्हें 2014से मरहला वार हटाने का आग़ाज़ होगा और उनकी जगह एफ़ जी एफ़ ए और ए एम आर सी ए जैसे नए जदीद तैय्यारों की अगली नसल शामिल करने से फ़िज़ाईया की एक नई फ़ोर्स बनेगी।

TOPPOPULARRECENT