Monday , June 18 2018

हिंदूस्तान का ज़ेर समुंद्र ब्लास्टिक मिज़ाईल का तजुर्बा

हिंदूस्तान 4 मार्च को ज़ेर समुंद्र ब्लास्टिक मिज़ाईल K5 का पहला तजुर्बा करेगा। सो किलोमीटर रेंज तक आब्दोज़ से फ़ायर किए जाने वाले ब्लास्टिक मिज़ाईल के दो तजुर्बात की तैयारीयां मुकम्मल कर ली गईं।

हिंदूस्तान 4 मार्च को ज़ेर समुंद्र ब्लास्टिक मिज़ाईल K5 का पहला तजुर्बा करेगा। सो किलोमीटर रेंज तक आब्दोज़ से फ़ायर किए जाने वाले ब्लास्टिक मिज़ाईल के दो तजुर्बात की तैयारीयां मुकम्मल कर ली गईं।

हिंदूस्तान के पास ब्लास्टिक मिज़ाईल के लिए कोई आपरेशनल आब्दोज़ नहीं,तजुर्बे के लिए ज़ेर-ए-आब आरिज़ी प्लेटफार्म इस्तेमाल किया जाएगा। 5 हज़ार किलोमीटर रेंज के अग्नी मीज़ाइल का तजुर्बा अप्रैल के तीसरे हफ़्ते में किया जाएगा,हिंदूस्तानी बहरीया केलिए तेजास लड़ाका तय्यारों की मंज़ूरी दे दी गई।

हेलीकॉप्टरों और 30 जंगजू तय्यारों को ले जाने की सलाहीयत का हामिल 40 हज़ार टन वज़नी जंगी बेड़ आइन्दा तीन बरस ( साल) में ऑपरेशनल ( चालू) होगा।हिंदूस्तानी मीडीया की रिपोर्टों के मुताबिक़ हिंदूस्तान चार मार्च को ज़ेर-ए-आब प्लेटफार्म से सब मैरीन लांच्ड ब्लास्टिक मिज़ाईल के 5 का तजुर्बा करने जा रहा है जब कि दूसरा तजुर्बा 16 से 9मार्च की दरमयानी मुद्दत में किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT