Wednesday , July 18 2018

हिंदूस्तान की दिफ़ाई तैय्यारी हमअसर मुसाबक़त :चीन

बीजिंग 11 नवंबर । ( पी टी आई ) चीन । हिंदूस्तानी सरहद पर नई दिल्ली की जानिब से दिफ़ाई इनफ़रास्ट्रक्चर में ग़ैरमामूली तरक़्क़ी की तजवीज़ को बीजिंग ने जुर्रत मंदाना इक़दाम क़रार दिया और कहा कि ऐसी किसी भी कोशिश को वो हमअसर मुसाबक़त तसव्वुर कर

बीजिंग 11 नवंबर । ( पी टी आई ) चीन । हिंदूस्तानी सरहद पर नई दिल्ली की जानिब से दिफ़ाई इनफ़रास्ट्रक्चर में ग़ैरमामूली तरक़्क़ी की तजवीज़ को बीजिंग ने जुर्रत मंदाना इक़दाम क़रार दिया और कहा कि ऐसी किसी भी कोशिश को वो हमअसर मुसाबक़त तसव्वुर करता है ।

हिंदूस्तान की क़ौमी सलामती लायेहा-ए-अमल में नुमायां तबदीली पर पीपल्ज़ लिबरेशन आर्मी ( पी एलए ) ने कहा कि 1962 की हिंद। चीन सरहदी झड़प के बाद पहली मर्तबा ऐसा देखा जा रहा है ।

हिंदूस्तानी दिफ़ाई इनफ़रास्ट्रक्चर को फ़रोग़ देने की इत्तिलाआत पर पहली मर्तबा रद्द-ए-अमल काइज़हार करते हुए पी एलए रोज़नामा ने कहा कि अंदरून 5 साल हिंदूस्तान यहां 90 हज़ार मज़ीद सिपाही मुतय्यन करेगा और चीन के साथ वाक़्य सरहद पर मज़ीद 4 नई डीवीजन क़ायम की जाएंगी ।

चीनी फ़ौज के रोज़नामा ने इस बात की भी निशानदेही की कि हिंदूस्तान अपनी फ़िज़ाईया केलिए एक नया तय्यारा हासिल करने के सिलसिले में क़तई मरहले में पहूंच चुका है और उसे दुनिया की सब से बड़ी दिफ़ाई मुआमलत समझा जा रहा है ।

हिंदूस्तान के अक्टूबर में ब्रह्मोस क्रूज़ मीज़ाईलस चीन के ख़िलाफ़ मुतय्यन करने के फ़ैसले का हवाला देते हुए रोज़नामा ने कहा कि ये पहली मर्तबा है कि हिंदूस्तान ने ऐसा बड़ा क़दम उठाया है और ब्रह्मोस मीज़ाईल को चीन के ख़िलाफ़ मुतय्यन करने का फ़ैसला किया गयाहै । हिंदूस्तान ने जापान के साथ पहली मर्तबा बहरी मश्क़ों का भी मंसूबा तैय्यार किया है ।

हिंदूस्तानी के वज़ीर-ए-दिफ़ा ए के अंतोनी ने गुज़श्ता हफ़्ता दौरा-ए-जापान के मौक़ा पर ये इन्किशाफ़ किया ।

TOPPOPULARRECENT