Monday , December 18 2017

हिंदूस्तान को 6800 अशीया बरामद करने की मंज़ूरी

हकूमत-ए-पाकिस्तान ने आज एक मनफ़ी फ़हरिस्त निज़ाम की मंज़ूरी दे दी, जिसके तहत हिंदूस्तान से तिजारत की जाएगी। इस तरह हिंदूस्तान को जारीया साल के इख़तेताम तक इंतिहाई पसंदीदा मुल्क का मौक़िफ़ देने की राह हमवार हो गई, लेकिन पाकिस्तान ने ये

हकूमत-ए-पाकिस्तान ने आज एक मनफ़ी फ़हरिस्त निज़ाम की मंज़ूरी दे दी, जिसके तहत हिंदूस्तान से तिजारत की जाएगी। इस तरह हिंदूस्तान को जारीया साल के इख़तेताम तक इंतिहाई पसंदीदा मुल्क का मौक़िफ़ देने की राह हमवार हो गई, लेकिन पाकिस्तान ने ये भी कहा कि किसी बुनियादी मसला जैसे मसला-ए-कश्मीर की क़ीमत पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

वज़ीर-ए-आज़म यूसुफ़ रज़ा गिलानी की ज़ेर-ए-सदारत मुनाक़िदा काबीना के इजलास में एक बाक़ायदगी पैदा करने वाली मनफ़ी फ़हरिस्त की मंज़ूरी दी गई, जो 1209 अशीया पर मुश्तमिल है, जिनकी हिंदूस्तान से बरामद नहीं की जा सकेगी। इसका मतलब ये होगा कि हिंदूस्तान 6800 अशीया बरामद करसकेगा जबकि फ़िलहाल उसे सिर्फ 1950 अशीया बरामद करने की इजाज़त थी।

ये भी कहा गया है कि मुत्तफ़िक़ा तौर पर मंज़ूरी दी गई, जिसके तहत मन्फ़ी फ़हरिस्त दिसमबर तक बतदरीज बर्ख़ास्त कर दी जाएगी। वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर से जारी कर्दा ब्यान में कहा गया है कि मन्फ़ी फ़हरिस्त की बर्ख़ास्तगी के बाद तिजारत को दोनों ममालिक के दरमयान मामूल की सतह पर बहाल करने का तीक़न दिया जाता है।

पाकिस्तान के मर्कज़ी वज़ीर‍ ए‍ इत्तेलात फ़िर्दोस आशिक़ ऐवान ने एक प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि तमाम ज़रूरीयात जो हिंदूस्तान को इंतेहाई पसंदीदा मुल्क क़रार देने के लिए मुक़र्रर हैं, उनकी तक़्मील कर दी जाएगी।

काबीना के आज के इजलास में जिस पर अमल आवरी का तीक़न दिया गया है, उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैं तीक़न देता हूँ कि इस इक़दाम के साथ इंतेहाई पसंदीदा मुल़्क की हैसियत देने की सिम्त पेशरफ़त की गई है और इसको क़तई शक्ल-ओ-सूरत दी जा रही है।

वज़ीर‍ ए‍ इत्तेला-आत ने बुनियादी मसला-ए-कश्मीर का हवाला देते हुए कहा कि इससे हिंदूस्तान के साथ तिजारत मुतास्सिर हो रही थी। उन्होंने कहा कि इस तसव्वुर का अज़ाला किया जाएगा कि मसला-ए-कश्मीर की क़ीमत पर कोई समझौता किया जा रहा है। साथ ही साथ उन्होंने निशानदेही की कि वज़ीर-ए-आज़म शख़्सी तौर पर काबीना को तफ्सीलात से वाक़िफ़ करवा चुके हैं और दोनों ममालिक के दरमयान तिजारत से ना तो कश्मीर का मौक़िफ़ मुतास्सिर होगा और ना 14 से 15 अरब रुपय मालियती तिजारत मुतास्सिर होगी।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की फ़राख़दल बाहमी तिजारत की पालिसी का ख़ौरमक़दम करते हुए हिंदूस्तान के वज़ीर-ए-सनअत-ओ-तिजारत आनंद शर्मा ने कहा कि ये इक़दाम तिजारत के मौक़े ( अवसर) खोल देगा। बाज़ारों तक रसाई फ़राहम करेगा। हिंदूस्तानी अशीया पड़ोसी मुल्क के बाज़ारों में दस्तयाब होने लगेगें।

आनंद शर्मा ने कहा कि इस तब्दीली से इस बात की तौसीक़ होती है कि दोनों ममालिक की हुकूमतें तिजारत को मामूली सतह पर लाने की पाबंद हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की पालिसी में इस ड्रामाई तब्दीली से तिजारत के रहनुमा या ना ख़ुतूत का ताय्युन हो गया है। 90 फ़ीसद अशीया की तिजारत को क़तईयत दी जा चुकी है।

पाकिस्तान 17 फ़ीसद अशीया की तिजारत का मुख़ालिफ़ है। रास्त हिंद । पाक तिजारत एक फ़ीसद से भी कम होगी और इसमें भी मुताल्लिक़ा आलमी तिजारत का हिस्सा होगा। हिंदूस्तान को तवक़्क़ो है कि पाकिस्तान के साथ तिजारत जो गुज़श्ता साल 2 अरब 33 करोड़ अमेरीकी डालर मालियत की थी और पाकिस्तान से दरआमद 3 करोड़ 30 लाख अमेरीकी डालर मालियत की थी, जिसमें बहुत ज़्यादा इज़ाफ़ा होगा।

मोतमिदऐन तिजारत इन का दोनों ममालिक से ताल्लुक़ है । अप्रैल 2011से इस सिलसिला में मुसलसल मुलाक़ातों में मसरूफ़ हैं।

TOPPOPULARRECENT