Monday , December 18 2017

हिंदूस्तान मज़बूत और ख़ुशहाल पाकिस्तान का मुतमन्नी : वज़ीर-ए-आज़म

नई दिल्ली, 08 दिसंबर: (पीटीआई) वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज कहा कि हिंदूस्तान एक ताक़तवर, मुस्तहकम और ख़ुशहाल पाकिस्तान देखना चाहता है। उन्हें ख़ुशी होगी अगर वो पड़ोसी मुल्क में जमहूरीयत को परवान चढ़ते देखें। वो पाकिस्तानी पारलीमानी व

नई दिल्ली, 08 दिसंबर: (पीटीआई) वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने आज कहा कि हिंदूस्तान एक ताक़तवर, मुस्तहकम और ख़ुशहाल पाकिस्तान देखना चाहता है। उन्हें ख़ुशी होगी अगर वो पड़ोसी मुल्क में जमहूरीयत को परवान चढ़ते देखें। वो पाकिस्तानी पारलीमानी वफ़द से मुलाक़ात कर रहे थे जो हिंदूस्तान के दौरा पर है।

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने सदर नशीन पाकिस्तानी सेंट सैयद नय्यर हुसैन बुख़ारी की ज़ेर-ए-क़ियादत उनसे मुलाक़ात करने वाले वफ़द से कहा कि दोनों ममालिक की पार्लीमेंटस के दरमयान क़रीबी ताल्लुक़ात बाहमी ताल्लुक़ात के इस्तिहकाम के लिए ज़रूरी हैं।

पाकिस्तानी सफ़ीर के एक बयान में कहा गया था कि वो मुज़ाकरात के अमन के अहया का ख़ौरमक़दम करते हैं। वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने कहा कि हिंदूस्तान एक ताक़तवर मुस्तहकम और ख़ुशहाल पाकिस्तान चाहता है। नय्यर हुसैन बुख़ारी ने एहसास ज़ाहिर किया कि पारलीमानी जमहूरीयत दोनों ममालिक के पार्लीमेंटस के दरमयान ताल्लुक़ात बेहतर बनाने के लिए और अवाम की आरज़ू की तकमील के लिए ज़रूरी है।

उन्होंने बाहमी मसाइल पर तबादला-ए-ख़्याल को एक मुसबत इक़दाम क़रार दिया। वज़ीर-ए-आज़म के इलावा पाकिस्तानी वफ़द ने सदर नशीन राज्य सभा हामिद अंसारी, वज़ीर-ए-ख़ारजा सलमान ख़ुरशीद, स्पीकर लोक सभा मीरा कुमार, क़ाइद अपोज़ीशन राज्य सभा अरूण जेटली और सदर हिंदूस्तानी कौंसल बराए तहज़ीबी ताल्लुक़ात करन सिंह से मुलाक़ात की।

बुख़ारी ने कहा कि उन्होंने उन मसाइल पर तबादला-ए-ख़्याल किया जिनकी यकसूई में रुकावटें पैदा हो रही हैं। वफ़द ने सदर जमहूरीया परनब मुखर्जी से भी मुलाक़ात की। सदर जमहूरीया ने इत्मीनान ज़ाहिर किया कि पारलीमानी तबादले और तिजारत, सक़ाफ़्त और अवाम से अवाम रवाबित के शोबों में पेशरफ्त हो रही है।

सदर जम्हूरीया ने दोनों ममालिक में हम आहंगी पैदा करने और इख़तिलाफ़ात में कमी करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। वफ़द के क़ाइद बुख़ारी ने वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह से कहा कि पाकिस्तान की जमहूरी हुकूमत एक मुस्तहकम-ओ-ख़ुशहाल पड़ोसी के साथ अच्छे ताल्लुक़ात को आला तरीन तर्जीह देती है और इस सिलसिला में पाकिस्तान में इत्तिफ़ाक़ राय पाया जाता है।

बुख़ारी ने कहा कि अवाम के नुमाइंदा होने की हैसियत से दोनों ममालिक के अरकान-ए-पार्लीमेंट पर ज़िम्मेदारी आइद होती है कि वो बाहमी ताल्लुक़ात की बेहतरी के लिए मुशतर्का तौर पर जद्द-ओ-जहद करें।

TOPPOPULARRECENT