Tuesday , December 12 2017

हिंदू-मुस्लिम के नाम पर आखिर बच्चों के भविष्य से क्यों खेल रहे ये राजनीतिक दल ?

मुंबई: “अगर BMC स्कूलों में सूर्य-नमस्कार को अनिवार्य किया गया तो मुस्लिम परिवारों के बच्चे स्कूल ही नहीं जाएंगे” ये ऐलान किया है सपा नेता अबु आज़मी ने। बीजेपी और शिवसेना ने BMC स्कूलों में सूर्य-नमस्कार को एक साज़िश के तहत अनिवार्य किया है लेकिन हम अपने बच्चों को इस साजिश का शिकार नहीं बनने देंगे चाहे मुस्लिम बच्चों को पढ़ाई क्यों न छोड़नी पड़े। मुंबई के BMC स्कूलों में ४ लाख से ज्यादा बच्चे पढ़ते हैं जिनमें से ज्यादातर बच्चे गरीब घरों से आते हैं। इससे पहले जब BMC के स्कूलों में वन्देमातरम गाने की बात कही गई तो भी मुस्लिम नेताओं ने उसका विरोध किया था।
जहाँ सूर्यनमस्कार को सीधे राजनीति से जोड़कर पूरे माहौल का फायदा उठाने में लगे अबु आजमी का कहना है कि ये नोटिस हम मुस्लिमों को कबूल नही है। हमारे बच्चे ज़ाहिल हो जाएँ पर सूर्य नमस्कार नही करेंगे। वहीँ मुस्लिम समुदाय के गरीब लोग जो अपने बच्चों को मुंबई के महँगे निजी स्कूलों में नही पढ़ा सकते हैं वो इस नए हंगामे से काफी परेशान दिख रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT