Wednesday , December 13 2017

हिंद – ईरान के दरमयान सयाहती फ़रोग़ और ताल्लुक़ात में इस्तेहकाम की कोशिश

स्पेशल चीफ़ सेक्रेट्री सयाहत और सदर नशीन आंध्र प्रदेश टूरिज़्म डेवलप्मेंट कारपोरेशन चन्दना ने आज सालार जंग म्यूज़ीयम में ईरानी कल्चरल एग्ज़ीबीशन ( सूबे इस्फ़हान ) का इफ़्तिताह किया। इस नुमाइश में सूबे इस्फ़हान की तारीख़ी इमारतों, कार

स्पेशल चीफ़ सेक्रेट्री सयाहत और सदर नशीन आंध्र प्रदेश टूरिज़्म डेवलप्मेंट कारपोरेशन चन्दना ने आज सालार जंग म्यूज़ीयम में ईरानी कल्चरल एग्ज़ीबीशन ( सूबे इस्फ़हान ) का इफ़्तिताह किया। इस नुमाइश में सूबे इस्फ़हान की तारीख़ी इमारतों, कार्टून्स और इस्लामी इन्क़िलाब के बाद की तरक़्क़ी से मुताल्लिक़ 210 तसावीर रखी गई हैं।

चन्दना ने इस मौक़ा पर हिंद ईरान ताल्लुक़ात के इस्तेहकाम की अहमीयत को उजागर किया। उन्हों ने कहा कि दोनों ममालिक के दरमयान सयाहत के शोबा में बाहमी तबादले के फ़रोग़ के साथ ताल्लुक़ात को मुस्तहकम किया जा सकता है।

हिंद – ईरान ताल्लुक़ात की तवील तारीख़ का हवाला देते हुए चन्दना ने कहा कि वो ईरान का दौरा कर चुकी हैं और उन्हें अंदाज़ा है कि सयाहती एतबार से दोनों ममालिक में अवाम के तबादले को फ़रोग़ दिया जा सकता है।

तक़रीब में इस्फ़हान के डिप्टी मेयर बराए कल्चरल ऐंड सोश्यल अफ़ेयर हबीबुल्लाह तहवीलपूर, डायरेक्टर ईरानीयन कल्चरल हाउज़ मुंबई हस्सान ख़ानी, सालार जंग म्यूज़ीयम के बोर्ड मेंबर नवाब एहतेराम अली ख़ान, डायरेक्टर सालार जंग म्यूज़ीयम नरेंद्र रेड्डी, ईरान के मशहूर कार्टूनिस्ट मुहम्मद अली रजबी और चीफ़ पब्लिक रिलेशन ऑफीसर ईरानी कौंसुलेट अली अकबर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT