हिंद जापान चोटी कांफ्रेंस

हिंद जापान चोटी कांफ्रेंस
हिंदुस्तान और जापान के दरमयान आला सतही चोटी कांफ्रेंस मुनाक़िद होगी जिस में तवक़्क़ो हैके दोनों ममालिक अपने वुज़राए ख़ारिजा और वुज़राए दिफ़ा के साथ मिलकर सेक्युरिटी मुशावरत का आग़ाज़ करेंगे।

हिंदुस्तान और जापान के दरमयान आला सतही चोटी कांफ्रेंस मुनाक़िद होगी जिस में तवक़्क़ो हैके दोनों ममालिक अपने वुज़राए ख़ारिजा और वुज़राए दिफ़ा के साथ मिलकर सेक्युरिटी मुशावरत का आग़ाज़ करेंगे।

ये चोटी कांफ्रेंस वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और उनके जापानी हम मंसब शाइनज़वाय के दरमयान मुनाक़िद होगी। नरेंद्र मोदी टोकीयो रवाना हुए थे। उन्होंने तारीख़ी शहर क्योटो में शब बसरी के बाद टोकीयो रवाना हुए।

उन्होंने क्योटो में दो क़दीम बुध मत के मंदिरों का दौरा किया। क्योटो में दूसरे दिन नरेंद्र मोदी के मसरूफ़ तरीन प्रोग्राम थे जिस में उन्होंने इंतिहाई मोहलिक सकल सेल एनीमिया-ए-बीमारी से मुक़ाबले में जापान की मदद तलब की। ये बीमारी हिंदुस्तान में क़बाइली अवाम में पाई जाती है।

उन्होंने क्योटो यूनीवर्सिटी में एस्टिम सेल रिसर्च के दौरे के मौके पर ये ख़ाहिश की जिस का बेहतर जवाब मिला। नरेंद्र मोदी अपने जापानी हम मंसब से मुलाक़ात करे हैं जिन्होंने ख़ैरसिगाली जज़बा का मुज़ाहरा करते हुए खासतौर पर क्योटो का दौरा किया और वहां हिंदुस्तानी वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात की थी।

दोनों वुज़राए आज़म की मुलाक़ात के एजंडे में कई अहम मौज़ूआत शामिल हैं। समझा जाता हैके दिफ़ा सिविल न्यूक्लीयर और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के शोबों में तआवुन पर बात की जाएगी। नरेंद्र मोदी ने तवक़्क़ो ज़ाहिर की हैके इस दौरे से दोनों ममालिक के माबैन बाहमी रवाबित के एक नए दौर का आग़ाज़ होगा

Top Stories