Saturday , November 25 2017
Home / India / हिंद-पाक के बीच समस्याओं के लिए युद्ध कोई समाधान नहीं

हिंद-पाक के बीच समस्याओं के लिए युद्ध कोई समाधान नहीं

नई दिल्ली: पाकिस्तानी उच्चायुक्त निर्दिष्ट भारत अब्दुल बासित ने आज कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच समस्याओं के लिए युद्ध कोई समाधान नहीं है और केवल मूर्ख लोग ऐसे संभावना पर विचार कर सकते हैं। गौरतलब है कि दो दिन पहले ही पाकिस्तान के न्युक्लियर‌ साईनसदां ए क्यू खान ने कहा था कि उनका देश सिर्फ पांच मिनट में भारत को निशाना बनाने की क्षमता रखता है।

बासित ने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि भारत के साथ सभी मुद्दों पर‌ बातचीत द्वारा हल किए जाएं और दोनों पड़ोसियों को चाहिए कि वे परिणाम पर आधारित बातचीत में हिस्सा लें। अब्दुल बासित ने एक कार्यक्रम में सवाल-जवाब के दौरान कहा कि युद्ध दोनों देशों के बीच मुद्दों का समाधान नहीं हो सकता।

केवल मूर्ख लोग युद्ध समस्याओं का समाधान समझ सकते हैं। पाकिस्तान के पूर्व न्युक्लियर‌ टेस्ट की 18 वीं वर्षगांठ के अवसर पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ए क्यू खान ने शनिवार को कहा था कि उनका देश इस क्षमता रखता है कि केवल पांच मिनट में भारत की राजधानी को निशाना बनाया जाए।

खान के इस टिप्पणी पर कई रणनीति मामलों के विशेषज्ञों ने कहा था कि भारत सारे पाकिस्तान को निशाना बनाने में सक्षम है लेकिन न्युक्लियर‌ हथियार युद्ध के हथियार नहीं होते यह केवल प्रतिरोध के लिए होते हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों के समग्र प्रकृति के संबंध में विचार व्यक्त करते हुए अब्दुल बासित ने कहा कि हमें उम्मीद है कि बातचीत की प्रक्रिया बहाल होगी क्योंकि हमारे सभी मुद्दों को केवल बातचीत के जरिए ही हल किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि पठानकोट हमले को पांच महीने बीत चुके हैं लेकिन हनोस्तान और पाकिस्तान के बीच बातचीत की प्रक्रिया बहाल नहीं हुआ है। पठानकोट हमले के संबंध में पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने कहा कि उनकी सरकार इस हमले की जांच में भारत की मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि हम इसमें भारत की मदद कर रहे हैं और हमें उम्मीद है कि हम इस घटना की तह तक पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को कई समस्याओं का सामना है। उन्होंने कहा कि अगर दोनों देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा मिलता है तो इससे क्षेत्र में कुल मिलाकर समृद्धि आएगी।

TOPPOPULARRECENT