Wednesday , January 17 2018

हिंद बंगला देश सरहद पर ग़ैर मोहलिक हथियारों का इस्तिमाल

नई दिल्ली, 23 मार्च: हिन्दुस्तान अब इस बात का ख़ाहां है कि मख़दूश हिंद। बंगला देश सरहद की निगेहबानी करने वाले बी एस एफ़ टरोप्स को ग़ैर महलूक हथियारों से लेस किया जाए यही नहीं बल्कि इन इलाक़ों को भी महफ़ूज़ बनाया जाएगा जहां से गै़रक़ानूनी द

नई दिल्ली, 23 मार्च: हिन्दुस्तान अब इस बात का ख़ाहां है कि मख़दूश हिंद। बंगला देश सरहद की निगेहबानी करने वाले बी एस एफ़ टरोप्स को ग़ैर महलूक हथियारों से लेस किया जाए यही नहीं बल्कि इन इलाक़ों को भी महफ़ूज़ बनाया जाएगा जहां से गै़रक़ानूनी दरअंदाज़ियाँ और दीगर सरगर्मियां अंजाम दी जाती हैं। बॉर्डर सेक्यूरिटी फ़ोर्स (BSF) सरबराह सुभाष जोशी ने मीडिया नुमाइंदों से बात करते हुए कहा कि ग़ैर मोहलिक हथियारों के इस्तिमाल में कामयाबी ज़रूर हासिल हुई है हालाँकि इब्तिदा में इस तरीका-ए-कार की मुख़ालिफ़त की गई थी ओरास पर अंदेशे ज़ाहिर किए जा रहे थे,लेकिन अब ऐसा नहीं है,क्योंकि यही एक तरीक़ा है जिस के ज़रीये पेशरफ़त की जा सकती है।

हम इस बात की कोशिश करें कि हिंद बंगला देश सरहद पर ज़्यादा से ज़्यादा ग़ैर मोहलिक हथियारों का इस्तिमाल किया जाये। सुभाष जोशी ने बॉर्डर गार्ड्स बंगला देश के साथ अपनी पाँच रोज़ा बातचीत के बाद इन ख़्यालात का इज़हार किया। बॉर्डर गार्ड्स बंगला देश (BGB) का एक 23 रुकनी वफ़द जिस की क़ियादत डायरेक्टर जनरल मेजर जनरल अज़ीज़ अहमद कर रहे हैं,फ़िलहाल दिल्ली में है, जहां दोनों फोर्सेस के दौरान एक साल में दोबार मुज़ाकिरात की जाती है।

TOPPOPULARRECENT