Saturday , December 16 2017

हिंद, वैस्टइंडीज़ -दुसरे टेस्ट का आज कोलकत्ता में आग़ाज़

कोलकता 14 नवंबर ( पी टी आई ) हिंदूस्तान और वैस्ट इंडीज़ के माबैन तारीख़ी ईडन गार्डन के ग्राउंड पर कल से दूसरा टेसट मैच खेला जाने वाला है और हिंदूस्तानी टीम इस मैच में कामयाबी के ज़रीया सीरीज़ में 2 - 0 की नाक़ाबिल-ए-शिकस्त सबक़त हासिल करना च

कोलकता 14 नवंबर ( पी टी आई ) हिंदूस्तान और वैस्ट इंडीज़ के माबैन तारीख़ी ईडन गार्डन के ग्राउंड पर कल से दूसरा टेसट मैच खेला जाने वाला है और हिंदूस्तानी टीम इस मैच में कामयाबी के ज़रीया सीरीज़ में 2 – 0 की नाक़ाबिल-ए-शिकस्त सबक़त हासिल करना चाहती है । इस के इलावा बैटिंग ग्रेट सचिन तनडोलकर भी इस तारीख़ी ग्राउंड पर अपनी 100 बैन-उल-अक़वामी सैंचरी बनाना चाहते हैं जो अब सारे मुल्क में चर्चा का मौज़ू बन गई है ।

हिंदूस्तानी टीम इस मैच में कामयाबी हासिल करलेती है तो उसे ना सिर्फ सीरीज़ में नाक़ाबिल-ए-शिकस्त सबक़त हासिल हो जाएगी बल्कि इस के हौसले भी बुलंद होंगे और उसे आइन्दा माह आस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ शुरू होने वाले क़दरे मुश्किल सीरीज़ में भी ये कामयाबी मुआविन साबित होगी । कल से शुरू होने वाले इस दूसरे टेसट में सारी तवज्जा सचिन तनडोलकर पर ही होगी जो अपने कैरियर के आख़िरी मरहला में चल रहे हैं ।जब सचिन तनडोलकर बैटिंग केले आयेंगे तो सारे मुल़्क की नज़रें उन पर होंगी इस उम्मीद कि साथ कि वो यहां अपनी 100 वीं सैंचरी स्कोर करलेगे ।

ताहम जहां तक टीम के नुक़्ता-ए-नज़र का सवाल है इस मैच में कामयाबी के ज़रीया हिंदूस्तानी टीम अपने दौरा इंगलैंड की यादों को ख़तन करना चाहेगी जहां उसे इंग्लिश टीम के हाथों 0 – 4 से इबरतनाक शिकस्त हुई थी । हिंदूस्तानी टीम अपने घर में एक ताक़तवर टीम समझी जाती है ताहम दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला स्टेडीयम में हुए पहले मैच में इस टीम को नस्बता कमज़ोर समझी जाने वाली वैस्ट इंडीज़ की टीम के ख़िलाफ़ पहली इन्निंगज़ में 95 रनों के ख़सारा का सामना करना पड़ा था ।

ताहम ऐन वक़्त पर हिंदूस्तानी टीम ने मैच में वापसी की और वैस्ट इंडीज़ को पाँच विकिटस से शिकस्त देते हुए सीरीज़ का पहला टेसट जीत लिया था । वैस्ट इंडीज़ की टीम पहली इन्निंगज़ की सबक़त के बाद कामयाबी की उम्मीद करसकती थी ताहम दूसरी इन्निंगज़ में इस का मुज़ाहरा इंतिहाई नाक़िस रहा था । टीम इंडिया में वरींदर सहीवाग की वापसी से बैटिंग लाईन अप मुस्तहकम हुई है जबकि गौतम गंभीर एक जानिब से अच्छी शुरूआत फ़राहम कर रहे हैं। अच्छी शुरूआत के नतीजा में मिडल आर्डर के बल्लेबाज़ों को भी सहूलत होगी ।

इस के इलावा मिडल आर्डर के तीन असल बल्लेबाज़ों राहुल डरावीड सचिन तनडोलकर और वे वे ऐस लक्ष्मण ने पहले टेसट मैं निस्फ़ सैंचरीयाँ स्कोर करते हुए टीम को कामयाबी दिलाई थी। इस इन्निंगज़ में भी सचिन तनडोलकर अच्छे फ़ार्म में नज़र आरहे थे ताहम वो अपनी 100 वीं सैंचरी से फिर चूक गए थे । वो 76 के स्कोर पर आउट हुए थे । सचिन तनडोलकर अपनी 99 वीं सैंचरी पर अटक गए हैं जो उन्हों ने वर्ल्ड कप में आठ महीने क़बल जुनूबी अफ़्रीक़ा के ख़िलाफ़ स्कोर की थी । ये उन के कैरियर में वनडे की 48 वीं सैंचरी थी । इस के बाद से सचिन अपने चार वनडे और पाँच टेसट की दस इन्निंगज़ में कोई बैन-उल-अक़वामी सैंचरी स्कोर नहीं करसके हैं।

इस के बरख़िलाफ़ राहुल डरावीड इस साल चार सैंचरीयाँ स्कोर करचुके हैं और वैस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ दूसरे टेसट में वो हिंदूस्तानी बैटिंग केलिए एक बार फिर अहम खिलाड़ी ही होंगे । बौलिंग के शोबा में हिंदूस्तान को नस्बता कम तजुर्बा हासिल है ताहम पर ज्ञान ओझा और आर अश्विन की स्पेन बौलिंग से हिंदूस्तान को पहला टेसट जीतने में काफ़ी मदद मिली थी । बाएं हाथ के स्पिन्नर पर ज्ञान ओझा ने छः विकिटस हासिल किए थे जबकि आर अश्विन को इस टेसट मैच में नौ विकिटस मिले थे जिस पर उन्हें मैन आफ़ दी मैच क़रार दिया गया था ।

ओझा और अश्विन ने इस टेसट में बेहतरीन बौलिंग करते हुए वैस्ट इंडीज़ के बल्लेबाज़ों को बांधे रखा था और दोनों ही बोलर्स ने वक़फ़ा वक़फ़ा से विकिटस हासिल करते हुए वैस्ट इंडीज़ को दूसरी इन्निंगज़ में मामूली स्कोर पर आउट किया था जिस के बाद हिंदूस्तान ने 276 रनों का निशाना उबूर करते हुए कामयाबी हासिल करली थी ।

TOPPOPULARRECENT