Tuesday , November 21 2017
Home / Featured News / हिंद-सऊदी आपसी संबंधों को नया आयाम, मोदी की शाह सलमान से मुलाकात

हिंद-सऊदी आपसी संबंधों को नया आयाम, मोदी की शाह सलमान से मुलाकात

The Prime Minister, Shri Narendra Modi receiving the Guard of Honour, at the Official Welcome ceremony at the Royal Court, in Riyadh, Saudi Arabia on April 03, 2016.

भारत सऊदी अरब आपसी संबंधों को एक नया आयाम प्रदान करने की आवश्यकता पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शाह सलमान बिन अब्दुलअज़ीज व्यापक मुद्दों पर चर्चा की। दोनों नेताओं ने विभिन्न क्षेत्रों सहित व्यापार, निवेश और आतंकवाद में सहयोग के विस्तार पर जोर दिया। सऊदी अरब भारत का सबसे बड़ा करोड़ ऑयल प्रमुख देश है। दोनों नेताओं का यह कहना था कि इस भाग को आगे बढ़ाया जाना चाहिए। शाह सलमान से मुलाकात से पहले नरेंद्र मोदी का जो कल यहां पहुंचे सरकारी स्तर पर भावुक स्वागत किया था।

पिछले सात महीनों में मोदी का यह दूसरा दौरा है। भारत के लिए खाड़ी काफी महत्व है क्योंकि 8 लाख से अधिक भारतीय नागरिक यहाँ रहते हैं। इसके अलावा भारत के ऊर्जा क्षेत्र में उसकी अहम है। मोदी ने पिछले साल अगस्त में संयुक्त अरब अमीरात का दौरा किया था। भारत और सऊदी अरब के आपसी संपर्कों पिछले दो दहों लगातार बढ़ावा रहते हैं और तेल के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी आपसी संबंधों को लगातार विस्तार किया जा रहा है।

शाह सलमान से मुलाकात से पहले विदेश मंत्री आदिल अलजबीर ने नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और आपसी हित के विभिन्न विषयों पर चर्चा की। स्वास्थ्य मंत्री और सऊदी अरब की राष्ट्रीय तेल कंपनी अरामको प्रमुख खालिद अल्फ़लीह ने भी मोदी से मुलाकात की। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि आरामको भारत को तरजीही निवेश गंतव्य के रूप में देखता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास समूह ने ट्वीट किया कि मंत्री तेल अल्फ़लीह ने मोदी से कहा: आरामकवकी नज़र में भारत निवेश के लिए नंबर 1 प्राथमिकता मंज़िल है। इससे पहले नरेंद्र मोदी ने 30 सऊदी और भारतीय ताजरीन के समूह से मुलाकात की और तेल समृद्ध देश की अग्रणी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को भारत के रक्षा, ऊर्जा, रेलवे, स्वास्थ्य और कृषि के क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित दी।

उन्होंने कहा कि व्यापारिक संबंधों में सुधार के पर्याप्त अवसर हैं। अब समय आ चुका है कि ” खरीदने और बेचने संबंध ” से बढ़कर विकास की एक नई राह पर चला जाए जो दोनों देशों की जनता के लिए फायदेमंद होगी। उन्होंने कहा कि खरीद और बिक्री संबंध की राह अपनाने से विकास में बाधा होगी। इसलिए हमें एक नई राह करनी होगी। नरेंद्र मोदी सऊदी अरब का दौरा करने वाले चौथे भारतीय प्रधानमंत्री हैं।

उनसे पहले मनमोहन सिंह ने 2010, इंदिरा गांधी 1982 और जवाहरलाल नेहरू 1956 में यहां का दौरा कर चुके हैं। उनका यह दौरा ऐसे समय हो रहा है जब कि मध्य पूर्व में संकट जारी है और समझा जाता है कि सऊदी नेतृत्व के साथ मुलाकात में विषय भी आया।

TOPPOPULARRECENT