Friday , July 20 2018

हिन्दुत्व और विकास दोनों मोर्चे पर फेल रही है मोदी सरकार- प्रवीण तोगड़िया

विहिप नेता प्रवीण तोगड़िया एक बार फिर सुर्ख़ियों में है .इस बार मामला दूसरा है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने देश के अधूरे कार्यों खासकर अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण और समान नागरिक संहिता लागू करने के वादों को पूरा करने पर उनसे चर्चा करने के लिए समय माँगा है।

उल्लेखनीय है कि विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने अपने ख़त में पुरानी यादों का स्मरण करते हुए लिखा कि हमारे घर, कार्यालय में आप का आना, साथ में भोजन चाय, ठहाके लगाकर हंसना, मुझे विश्वास है आप कुछ भी नहीं भूले होंगे।

लेकिन सत्ता मिलने के साथ आपने हमसे और मूल विचारधारा से ही दूरी बना ली। तोगड़िया ने पीएम से संवाद की उम्मीद रखते हुए पत्र में दिए गए मुद्दों पर संवाद करने के लिए मिलने की इच्छा जाहिर कर समय जल्द देने का विश्वास जताया है।

गौरतलब है कि तोगड़िया ने अपने पत्र में चुनाव जीतना आंकड़ों, मतदाता सूची और ईवीएम का खेल बताया, लेकिन वादे पूरे कर प्रजा अनुकूल नेता बनने की नसीहत भी दी।

अपना पत्र मीडिया से साझा करते हुए तोगड़िया ने रहस्योद्घाटन किया कि उनकी और मोदी की पिछले 12 साल से मुलाकात या बातचीत नहीं हुई है। इसीलिए उन्होंने मोदी को पत्र लिखकर राम मंदिर निर्माण एवं अन्य मुद्दों पर मिलना चाहते हैं।

उन्होंने मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल पर टिप्पणी की, कि ना तो हिंदुत्व पर वादे पूरे हुए ना ही विकास पर। इसके अलावा विहिप अध्यक्ष नेअपने पत्र में किसानों की कर्ज माफ़ी, कृषि उपकरणों पर जीएसटी नहीं लगाने,गौवध पर प्रतिबंध लगाने,गौ रक्षकों के खिलाफ सभी राज्यों को केंद्र की ओर से जारी परामर्श को वापस लेने के साथ ही समान नागरिक संहिता लागू करने की मांग भी मांग की।

TOPPOPULARRECENT