हिन्दुस्तान एक उभरती हुई जम्हूरी बड़ी ताक़त

हिन्दुस्तान एक उभरती हुई जम्हूरी बड़ी ताक़त
वज़ीर-ए-आज़म ऑस्ट्रेलिया टोनी एबाट का 30 रुकनी बिज़नस वफ़द से ख़िताब,तलबा केलिए नया कोलंबो मंसूबा

वज़ीर-ए-आज़म ऑस्ट्रेलिया टोनी एबाट का 30 रुकनी बिज़नस वफ़द से ख़िताब,तलबा केलिए नया कोलंबो मंसूबा

वज़ीर-ए-आज़म ऑस्ट्रेलिया टोनी एबाट ने हिन्दुस्तान को एक उभरती हुई जम्हूरी बड़ी ताक़त क़रार देते हुए कहा कि हिन्दुस्तान बिज़नस के वसीअ मवाक़े रखता है। तिजारती दार-उल-हकूमत से अपने दो रोज़ा दौरा हिंद का आग़ाज़ करते हुए उन्होंने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने हिन्दुस्तान के दौरे की दावत दी थी।

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया हिन्दुस्तान के साथ कारोबार के सिलसिले में खुला ज़हन रखता है। उन्हें ये देख कर हैरत हुई कि गुज़िशता चंद दहाईयों में हिन्दुस्तान की तरक़्क़ी और फ़रोग़ में दुनिया भर को हैरान कर दिया है हालाँकि ये दुनिया का दूसरा सब से ग़नजान आबाद मुल्क है लेकिन तीसरी बड़ी मईशत बन गया है और दुनिया की उभरती हुई जम्हूरियत‌ बड़ी ताक़त है।

ऑस्ट्रेलिया के साथ हिन्दुस्तान के तवील और गर्मजोश ताल्लुक़ात हैं। वो होटल ताज प्यालीस में अपने हमराह आने वाले 30 रुकनी बिज़नस वफ़द से ख़िताब कररहे थे। उन्होंने कहा कि 33 साल क़बल उन्होंने हिन्दुस्तान का दौरा किया था जबकि देही हिन्दुस्तान ने उन्होंने बैल गाड़ियां चलती देखी थीं लेकिन अब इन ही देहातों में न्यूक्लीयर पावर स्टेशन क़ायम हैं और हिन्दुस्तान ने काफ़ी तरक़्क़ी की है।

उन्होंने वफ़द से कहा कि हिन्दुस्तान में बिज़नस के वसीअ मवाक़े मौजूद हैं और उन्होंने अह्द किया है की इस से इस्तिफ़ादा करेंगे। अपनी हुकूमत पर इख़तिराई अज़ीम तर शऊर की बेदारी ऑस्ट्रेलिया के तलबा में पैदा करने के लिए ज़ोर देते हुए टोनी एबाट ने कहा कि वो इस बात को यक़ीनी बनाईं कि लाखों ऑस्ट्रेलियाई तलबा आइन्दा साल से हिन्दुस्तान की यूनीवर्सिटीयों में तालीम हासिल करें।

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई यूनीवर्सिटीयों में हज़ारों हिन्दुस्तानी तलबा ज़ेर-ए-तालीम हैं लेकिन हिन्दुस्तान की यूनीवर्सिटीयों में ऑस्ट्रेलियाई तलबा की तादाद बहुत कम है। उन्होंने कहा कि वो अपनी हुकूमत का नया कोलंबो मंसूबा हिन्दुस्तान से शुरू करेंगे और मुख़्तलिफ़ वाइस चांसलर्स से मुलाक़ातें करेंगे। नया कोलंबो मंसूबा हुकूमत ऑस्ट्रेलिया की नुमाइंदा पहल है जिस से हिंद-बहर-ए-अलकाहिल तलबा की मालूमात में इज़ाफ़ा किया जाता है।

Top Stories