Wednesday , December 13 2017

हिन्दुस्तान और नेपाल के बाहमी दोस्ताना रवाबित : सदर जम्हूरिया

नई दिल्ली, ३० नवंबर (पीटीआई)सदर जम्हूरिया प्रणब मुख़र्जी ने कहा कि हिन्दुस्तान और नेपाल के क़रीबी दोस्ताना ताल्लुक़ात हैं जिनका इज़हार समाजी और मआशी रवाबित से होता है और बाहमी दोस्ताना ताल्लुक़ात की जड़ें तारीख़ में पैवस्त हैं ।

नई दिल्ली, ३० नवंबर (पीटीआई)सदर जम्हूरिया प्रणब मुख़र्जी ने कहा कि हिन्दुस्तान और नेपाल के क़रीबी दोस्ताना ताल्लुक़ात हैं जिनका इज़हार समाजी और मआशी रवाबित से होता है और बाहमी दोस्ताना ताल्लुक़ात की जड़ें तारीख़ में पैवस्त हैं ।

सदर जम्हूरिया ने कहा उन दोस्ताना ताल्लुक़ात की ख़ुसूसीयत बाक़ायदा समाजी , सक़ाफ़्ती , तालीमी , तिजारती और मआशी तबादले हैं जो दोनों ममालिक के अवाम के रवाबित को वक़्त गुज़रने के साथ साथ ज़्यादा गहरे बना रहे हैं।

सदर जम्हूरिया काठमांडू में कल एक सेमीनार के लिए अपनी नेक ख़ाहिशात रवाना करते हुए इज़हार-ए-ख़्याल कर रहे थे। प्रणब मुख़र्जी ने हिंद ‍नेपाल सेमीनार जिसका मौज़ू असरी तालीम के लिए बनारस हिंदू यूनीवर्सिटी और मालवीय की देन है, के लिए अपनी नेक ख़ाहिशात पेश करते हुए कहा कि मदनमोहन मालवीय की 150 वीं सालगिरह‌ के मौक़ा पर काठमांडू में 30 नवंबर ता यकुम दिसम्बर इस सेमीनार का इनइक़ाद एक अच्छी अलामत है।

राष्ट्रपति भवन से जारी एलामीया के बमूजब सदर जमहूरिया ने कहा कि मदनमोहन मालवीय मुमताज़ मुजाहिदीन आज़ादी थे जिन्होंने जदीद हिंदूस्तान के नज़रिया की सोरतगरी की। वो एक बेहतरीन माहिर-ए-तालीम और हिंदूस्तान में असरी तालीम के ज़बरदस्त हामी थे।

उन्होंने बनारस हिंदू यूनीवर्सिटी क़ायम की जो हिंदूस्तान की बावक़ार और नामवर यूनीवर्सिटीयों में एक है।

TOPPOPULARRECENT