Friday , September 21 2018

हिन्दूवादी नेता को सम्‍मानित कर फंसे AMU कोच मजहर उल कमर, सस्‍पेंड हुए

इससे पूर्व विश्वविद्यालय इंतजामियां की ओर से कोच को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। बताया जा रहा है कि उनकी ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है। उधर मजहर के खिलाफ एएमयू छात्रों में भी भारी आक्रोश है।
मजहर उल कमर के खिलाफ विश्वविद्यालय प्रशासन ने कार्रवाई सोशल मीडिया में तस्वीर आने के उपरान्त की गई है कि वह डीएस कॉलेज अलीगढ़ गए थे, जहां उन्होंने अमित गोस्वामी को सम्मानित किया था।
अमित गोस्वामी पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में गत 2 मई को होने वाले हमले में कथित रूप से शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था। विश्वविद्यालय ने इस मामले का गंभीर रूप से संज्ञान लेते हुए मजहर उल कमर को 24 घंटे के अन्दर अपना पक्ष स्पष्ट करने के लिए कहा था।
विश्वविद्यालय ने मजहर उल कमर को भेजे गए कारण बताओ नोटिस में कहा था कि कि आप भलि भांति इस बात से अवगत है कि अमित गोस्वामी नामक व्यक्ति उन असमाजिक तत्वों में शामिल था, जिसने 2 मई को  विश्वविद्यालय के विरुद्ध गाली गलौच तथा नारे बाजी की। यहां के छात्रों एवं सुरक्षा कर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार किया।

विश्वविद्यालय परिसर में अशांत स्थिति के बावजूद आपने उक्त व्यक्ति से मुलाकात कर विश्वविद्यालय बिरादरी विशेष कर उन छात्रों की भावनाओं से खिलवाड़ किया है, जो उक्त मामले की जांच की मांगों को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं। यह मामला जांच का विषय है।  कारण बताओ नोटिस में आगे कहा गया है कि मजहर उल कमर ने जो किया है उसकी किसी जिम्मेदार विश्वविद्यालय कर्मचारी से आशा नहीं की जा सकती।

TOPPOPULARRECENT