हिन्दू राष्ट्र वाले जज के बयान पर आया ओवैसी और फारुक़ अब्दुल्ला का बयान, जानिए, किसने क्या कहा?

हिन्दू राष्ट्र वाले जज के बयान पर आया ओवैसी और फारुक़ अब्दुल्ला का बयान, जानिए, किसने क्या कहा?

मेघालय हाईकोर्ट के जस्टिस सुदीप रंजन सेन द्वारा भारत को हिंदू राष्ट्र बनाए रखने की टिप्पणी के बाद राजनीतिक गलियारे में खलबली मच गई है। एक सुनवाई के दौरान जज ने भारत को ‘हिन्‍दू राष्‍ट्र’ बनाने की वकालत की।

उन्‍होंने कहा कि किसी को भी भारत को इस्‍लामिक देश के रूप में बदलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने जहां इस बयान का समर्थन किया है, वहीं AIMIM के नेता असदुद्दीन ओवैसी और जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला ने एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति के ऐसे बयान का विरोध किया है।

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने जस्टिस सेन की बातों का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि मैं जज साहब की बात से पूरी तरह से सहमत हूं। मैं तो साधुवाद और धन्यवाद देता हूं। देश की संवैधानिक पर पद पर बैठे शख्स ने ऐसी बात कही है जो आज देश के अधिकांश नागरिक महसूस कर रहे हैं।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने जस्टिस सेन के फैसले पर कहा कि न्यायाधीश जिसने भारतीय संविधान की शपथ ली है, वह इस तरह का गलत निर्णय नहीं दे सकता।

भारत इस्लामिक देश नहीं बनेगा। भारत एक बहुलता वादी व धर्म निरपेक्ष देश बना रहेगा। उन्होंने कहा कि यह किस प्रकार का निर्णय है? क्या न्यायपालिका और सरकार इसका नोटिस लेंगी।

जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्ेंस नेता फारूक अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और यह हमेशा ऐसा ही रहेगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि यह लोकतांत्रिक देश है, इसलिए हर किसी को अपनी बात और अपने विचार व्‍यक्‍त करने की आजादी है।

साभार- ‘पत्रिका’

Top Stories