Monday , December 18 2017

हिन्दू रियासत बनाने की हो रही साजिशः वजीरे आला

वजीरे आला जीतन राम मांझी ने कहा कि एक साजिश के तहत मुल्क को हिन्दू रियासत बनाने की कोशिश की जा रही है। मजहब तब्दील को घर वापसी का नाम दिया जा रहा है। समाज को बांटने की कोशिश हो रही है। रतनी ब्लॉक के मुरहारा में मुनक्कीद सभा में सनीचर

वजीरे आला जीतन राम मांझी ने कहा कि एक साजिश के तहत मुल्क को हिन्दू रियासत बनाने की कोशिश की जा रही है। मजहब तब्दील को घर वापसी का नाम दिया जा रहा है। समाज को बांटने की कोशिश हो रही है। रतनी ब्लॉक के मुरहारा में मुनक्कीद सभा में सनीचर को वजीरे आला ने कहा कि ऐसी ताकतों से होशियार रहने की जरूरत है।

कोई भी बागीचा तभी सुंदर दिखता है जब वह मुखतलिफ़ तरह के फूल खिले होते हैं। उन्होंने नरेन्द्र मोदी की हुकूमत पर निशाना साधते हुए कहा कि सात महीने में एक भी वादे पूरे नहीं हुए। लोगों को सिर्फ छला गया। सीएम ने कहा कि ऊंचे तबके में भी कई लोगों की हालत दर्ज़ फेहरिस्त जाति और इंतेहाई पसमानदा तबके के लोगों से अच्छी नहीं है। ऐसे लोगों का तरक़्क़ी करने के लिए हुकूमत अहद लिए हुये है।
हमने सवर्ण कमीशन की तशकील किया था। लेकिन कमीशन रिपोर्ट नहीं दे रहा है। कमीशन रिपोर्ट दे या न दे हुकूमत उनके हक में फैसला करेगी। उन्होंने कहा कि आठ साल पहले समाज की सोंच कुछ और थी। नीतीश कुमार की कियादत में बिहार को तरक़्क़ी की पटरी पर लाया गया। उनके काम को हम आगे बढ़ा रहे हैं।
वजीरे आला ने कहा कि मरकज़ बिहार को उसका वाजिब हक भी नहीं दे रहा। सूबे को 57 हजार करोड़ रुपए की मंसूबा में कटौती की जा रही है। पहले पैसे खर्च नहीं होते थे। हमारी हुकूमत ने अब तक मरकज़ की तरफ से भेजी गई 40 फीसद रकम खर्च कर दी है। फरवरी माह तक हम 90 फीसद रकम खर्च करने की हालत में होंगे। अगर बिहार को खुसुसि रियासत का दर्जा दे दिया जाय तो मुरहारा जैसे दूर इलाकों का भी तरक़्क़ी हो सकेगा। मरकज़ हुकूमत के वज़ीर बिहार के साथ हकमारी कर रहे हैं।

सूबे में रहने वाले इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस दौरान वजीरे आला ने तकरीबन 50 करोड रुपए की मंसूबा का इफ़्तिताह व संगे बुनियाद भी किया। इजलास को पीएचईडी वज़ीर महाचंद्र प्रसाद सिंह, पंचायती राज वज़ीर बिनोद यादव, एमएलए सत्यदेव कुशवाहा समेत कई लोगों ने खिताब किया। सदारत मुक़ामी एमएलए अभिराम शर्मा ने की। मौके पर जेडीयू जिला सदर जेपी चंद्रवंशी समेत कई लीडर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT