Friday , September 21 2018

हिमाचल प्रदेश हुकूमत ने केजरीवाल से मुलाक़ात मंसूख़ कर दी

रियास्ती लोक आयुक़्त बिल पर की जाने वाली तन्क़ीदों से बौखलाहट का शिकार हिमाचल प्रदेश हुकूमत ने आज टीम अन्ना के रुकन अरविंद केजरीवाल से मुलाक़ात के प्रोग्राम को मंसूख़ कर दिया, जिन्होंने बी जे पी पर तक़नीदी हमला करते हुए कहा था कि लोक आ

रियास्ती लोक आयुक़्त बिल पर की जाने वाली तन्क़ीदों से बौखलाहट का शिकार हिमाचल प्रदेश हुकूमत ने आज टीम अन्ना के रुकन अरविंद केजरीवाल से मुलाक़ात के प्रोग्राम को मंसूख़ कर दिया, जिन्होंने बी जे पी पर तक़नीदी हमला करते हुए कहा था कि लोक आयुक़्त बिल मुआमला पर बी जे पी और कांग्रेस एक थाली के चट्टे बट्टे नज़र आते हैं।

केजरीवाल ने हिमाचल प्रदेश के लोक आयुक़्त बिल को इंतिहाई कमज़ोर और गैर मुअस्सिर क़रार दिया और ये इस्तेफ़सार भी किया कि बी जे पी ख़ुद अपनी पार्टी वाली हुक्मराँ रियासत उत्तराखंड में मंज़ूर होने वाले इस मुस्तहकम बिल से दस्तबरदार होना चाहती है।

उन्होंने एक बार फिर अपनी बात दोहराते हुए कहा कि बिल इंतिहाई कमज़ोर है जिसके ज़रीया बद उनवान अफ़राद को गै़रक़ानूनी तहफ़्फ़ुज़ के हुसूल को आसान बनाया जा रहा है हालाँकि इसका मक़सद बद उनवान अफ़राद को सज़ाएं देना है।

उत्तराखंड की मिसाल सामने रखते हुए हिमाचल प्रदेश हुकूमत को भी इस की तक़लीद करनी चाहीए थी लेकिन ऐसा नहीं हो सका जो बद बख्ताना है। क्या इसका मतलब ये नहीं हुआ कि बी जे पी ख़ुद अपने उत्तराखंड बिल से ग़ैर वाबस्तगी का इज़हार कर रही है?

और इसका मतलब ये भी हुआ कि मर्कज़ी बिल के कुछ मुतनाज़ा नकात पर बी जे पी और कांग्रेस की राय एक ही है। याद रहे कि हिमाचल प्रदेश हुकूमत ने आज सुबह मुनाक़िद शुदणी एक तक़रीब को मंसूख़ कर दिया था ताकि लोक आयुक़्त बिल की नक़ल पार्टी अरकान में तक़सीम की जा सके।

इसके रद्द-ए-अमल के तौर पर केजरीवाल ने ये ब्यान दिया। टीम अन्ना के एक रुकन ने इद्दिआ किया कि मिस्टर केजरीवाल को तक़रीब की मंसूख़ी के बारे में आज सुबह ही इत्तिला दी गई। केजरीवाल का कहना है कि तक़रीब की मंसूख़ी के लिए कोई ठोस वजह नहीं बताई गई।

TOPPOPULARRECENT