हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, थाना इंचार्ज समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, थाना इंचार्ज समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में ब्रहस्पतिवार और शुक्रवार की रात को एक बड़ी घटना हुई जिसमें आठ पुलिस कर्मियों की जान चली गई. यूपी पुलिस के आठ जवान देर रात हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए गए हुए थे,लेकिन बदमाशों को पहले से ही पुलिस के आने की भनक लग चुकी थी. इसी के चलते बदमाशों ने पुलिस के रास्ते में अवरोध उत्पन्न कर दिया था जिसे ठीक करने के लिए जब पुलिस के जवान उतरे तो उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी गई. इस घटना में 8 लोग मारे गए. आइए जानते हैं कि आखिर कौन है विकास दुबे जिसे पकड़ने के लिए पूरा पुलिस महकमा लगा हुआ है.

ऐसा नहीं है कि विकास दुबे का यह पहला मामला है. विकास दुबे का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है. बचपन से ही विकास जुर्म की दुनिया का बादशाह बनना चाहता था और उसने इसकी शुरूआत भी पहले से ही कर दी थी. उसने पहले गैंग बनाया फिर लूट पाट शुरू की. इतने में ही उसका मन नहीं भरा तो बाद में वह डकैती और हत्याओं को भी अंजाम देने लगा.

विकास ने 19 साल की उम्र में ही इतने कारनामों को अंजाम दे चुका था कि वह पुलिस प्रशासन की नजरों में पहले नंबर पर आ चुका था. जब उसने एक दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री की हत्या की थी तब वह मात्र 19 साल का था.

Top Stories