Tuesday , June 26 2018

हुकूमत अमरीका को दाख़िली मुश्किलात पर तवज्जा देने का 90फ़ीसद शहरीयों का मश्वरा

वाशिंगटन २१ नवंबर (ए पी) हर 10 में से 9 अमरीकी शहरीयों ने इस राय का इज़हार किया है कि अमरीकी हुकूमत को आलमी इक़तिसादी इंतिज़ाम-ओ-इंसिराम की बजाय अंदरूनी इक़तिसादी मुश्किलात के हल पर अपनी तवज्जा मर्कूज़ रखनी चाआई। ये बात अमरीका और 24 दीगर मम

वाशिंगटन २१ नवंबर (ए पी) हर 10 में से 9 अमरीकी शहरीयों ने इस राय का इज़हार किया है कि अमरीकी हुकूमत को आलमी इक़तिसादी इंतिज़ाम-ओ-इंसिराम की बजाय अंदरूनी इक़तिसादी मुश्किलात के हल पर अपनी तवज्जा मर्कूज़ रखनी चाआई। ये बात अमरीका और 24 दीगर ममालिक में मुनाक़िद किराए जाने वाले एक हालिया सर्वे में सामने आई है।

सर्वे के मुताबिक़ दीगर ममालिक में भी शहरीयों ने अपनी हुकूमतों से ऐसी ही तवक़्क़ुआत का इज़हार किया है ताहम अमरीका में अंदरूनी इक़तिसादी मसाइल के हल के हवाला से हुकूमती किरदार को फ़आल बनाने में शहरी ज़्यादा दिलचस्पी का मुज़ाहरा कर रहे हैं।

हैली फॉक्स इंटरनैशनल सैक्योरिटी फ़ोर्म के सरबराह पीटर वान फ़राग़ ने बताया कि मुख़्तलिफ़ ममालिक में शहरी इस ख़ाहिश का इज़हार कर रहे हैं कि इन की हुकूमतें आलमगीरीयत के तक़ाज़ों के मुताबिक़ इक़दामात करें ताहम ये शहरी अंदरूनी इक़तिसादी मुश्किलात से भी सिर्फ-ए-नज़र नहीं कर सकती।

सर्वे के दौरान 80 फ़ीसद शहरीयों ने क़ुदरती आफ़ात और जमहूरीयत के मसाइल से दो-चार ममालिक में इमदाद की फ़राहमी की हिमायत की जबकि 63 फ़ीसद शहरीयों ने इस राय का इज़हार किया कि इन के मुताल्लिक़ा ममालिक को आलमगीर दुनिया में अख़लाक़ी लीडर का किरदार अदा करना चाहीयॆ।

हिंदूस्तान के 90 फ़ीसद, बर्तानिया 70, फ़्रांस के 64 और अमरीका के 63 फ़ीसद शहरीयों ने अपने ममालिक की आलमी मंज़र नामा में मूसिर किरदार की हिमायत की।

TOPPOPULARRECENT