हुकूमत और जी ऐच एमसी गूंगी और बहरी

हुकूमत और जी ऐच एमसी गूंगी और बहरी
हैदराबाद २३अगस्त (सियासत न्यूज़) सदर ग्रेटर हैदराबाद तेलगुदेशम अक़ल्लीयती सेल शहबाज़ अहमद ख़ां ने दोनों शहरों की ख़सताहाल सड़कों पर हुकूमत और ग्रेटर हैदराबाद बलदिया की मुजरिमाना ख़ामोशी को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए क

हैदराबाद २३अगस्त (सियासत न्यूज़) सदर ग्रेटर हैदराबाद तेलगुदेशम अक़ल्लीयती सेल शहबाज़ अहमद ख़ां ने दोनों शहरों की ख़सताहाल सड़कों पर हुकूमत और ग्रेटर हैदराबाद बलदिया की मुजरिमाना ख़ामोशी को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि हुकूमत और बलदिया आँख रख कर भी अंधी और कान रख कर भी बहरी बनी हुई हैं। अवामी मसाइल से ग़फ़लत बरतने वाली कांग्रेस को इक़तिदार पर बरक़रार रहने का हक़ नहीं है।

मिस्टर शहबाज़ अहमद ख़ां ने कहा कि ग्रेटर बलदिया हैदराबाद अवाम से करोड़ों रुपय टैक्स वसूल कर रही ही, ताहम उन्हें बुनियादी सहूलतें फ़राहम करने में पूरी तरह नाकाम है। शहर के अहम चौराहों और गली कूचे तक की सड़कें इंतिहाई ख़सताहाली का शिकार हैं, यहां तक कि फ़्लाई ओवर्स की सड़कें भी तबाह हो चुकी हैं।

पहले ही आबादी और गाड़ीयों के तनासुब से हैदराबाद की सड़कें वसीअ नहीं हैं, फिर ट्राफिक के मसाइल भी पेचीदा हैं, ऊपर से ज़ुलम ये कि सड़कों पर बड़े बड़े गढ़े पड़ गए हैं, जिस से अवाम की मुश्किलात में बेहद इज़ाफ़ा होगया ही। शहर की ऐसी कई सड़कें हैं, जहां नाकारा सड़कों की वजह से घंटों ट्राफिक जाम हो रही ही। उन्हों ने कहा कि शहर हैदराबाद कोई गावो या क़स्बा नहीं ही, बल्कि रियासत आंधरा प्रदेश का सदर मुक़ाम है, जहां चीफ़ मिनिस्टर, गवर्नर, वुज़रा के इलावा मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात के आली ओहदादार रहते हैं और बलदिया हैदराबाद की आमदनी करोड़ों रुपय होने के बावजूद अवाम उस मुजरिमाना ग़फ़लत की सज़ा भुगत रहे हैं।

अवाम को राहत पहुंचाने की बजाय बड़े बड़े होर्डिंग्स लगाकर अवाम को ईद की मुबारकबाद दी जा रही है। उन्हों ने कहा कि चीफ़ मिनिस्टर को अवामी सहूलत की कोई परवाह नहीं ही, वो सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने के लिए दिल्ली के चक्क्र लगाने में मसरूफ़ हैं। शहर हैदराबाद से वज़ारत में दो वुज़रा की नुमाइंदगी ही, वो भी अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में नाकाम हैं।

मिस्टर शहबाज़ अहमद ने कहा कि ऐसी नाकारा हुकूमत को सबक़ सिखाने का वक़्त आगया ही। कांग्रेस को इक़तिदार सौंप कर अवाम पछता रहे हैं। तेलगुदेशम दौर-ए-हकूमत में हैदराबाद कुमलक भर में मुसलसल तीन साल तक कलीन ऐंड ग्रीन सिटी का ऐवार्ड हासिल हुआ था।

Top Stories