Monday , December 18 2017

हुकूमत किसी भी सियासी जमात की हो, मुसलमानों के मुफ़ादात अव्वलीन तर्जीह

हैदराबाद 03 मई: हुकूमत की फ़लाही स्कीमात को कामयाब बनाने के लिए स्कीम के मुताल्लिक़ शऊर बेदारी मुहिम ज़रूरी है और इदारा सियासत इस काम के लिए हरवक़त तैयार है। माज़ी में भी सियासत ने हुकूमत तेलंगाना की शादी मुबारक बिला सूदी क़र्ज़ और स्टूडेंट्स की ओवरसीज़ स्कीम के मुताल्लिक़ मुसलमानों के अंदर शऊर बेदारी मुहिम चलाई जिसके मुसबित नताइज बरामद हुए।

इदारा सियासत की तरफ से तेलंगाना माइनॉरिटी रेसिडेंशियल एजूकेशनल इंस्टीटूशन सोसाइटी की मालना रिहायशी स्कूल स्कीम के मुताल्लिक़ शऊर बेदारी का भी बेड़ा सियासत ने उठाया है इदारा सियासत में टीएमआरआईएस प्रोजेक्टस मैनेजरस अब्दुल लतीफ़ और एजाज़ अहमद के सात शहर की मुख़्तलिफ़ रज़ाकाराना तन्ज़ीमों की एक नशिस्त मुनाक़िद की गई।ज़हीरुद्दीन अली ख़ान की निगरानी में मुनाक़िदा इस नशिस्त में रिहायशी स्कूलस के मुताल्लिक़ मुशीराबाद असेंबली हलक़ा से शऊर बेदारी मुहिम शुरू करने का फ़ैसला लिया गया।

ज़हीरुद्दीन अली ख़ान ने कहा कि रियासत तेलंगाना में मुसलमानों की तालीमी पसमांदगी का दूर करने का ये बेहतरीन ज़रीया है। उन्होंने कहा कि हुकूमत चाहीए किसी भी सियासी जमात की हो मगर मुसलमानों के मुफ़ादात हमारी अव्वलीन तर्जीह होने चाहीए और इदारा सियासत तेलंगाना में मुसलमानों की तालीमी पसमांदगी को दूर करने की ग़रज़ से शुरू की जा रही रिहायशी स्कूल स्कीम को कामयाब बनाने में मुताल्लिक़ा महिकमा को मुकम्मिल तआवुन फ़राहम करेगी।

उन्होंने कहा कि रज़ाकाराना तन्ज़ीमों सियासी जमातों और फ़लाही इदारों पर भी ये ज़िम्मेदारी आइद होती है कि वो रिहायशी स्कूलस में दाख़िलों के लिए हुकूमत की तरफ से मुक़र्रर करदा निशाने को पूरा करने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें। रिहायश के साथ तआम यूनीफार्म और निसाबी किताबों की फ़राहमी के ज़रीये हुकूमत तेलंगाना मुसलमानों में तालीम को आम करने की जो पहल कर रही है वो काबिल-ए-सताइश है।

इस स्कीम की कामयाबी के लिए बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने वाले जन्नत-उल-फ़िरदौस में अपना मुक़ाम बनाने में कामयाब रहेंगे।उन्होंने मुसलमानों निक्की ग़नजान आबादीयों में शऊर बेदारी के ज़रीये रिहायशी स्कूलस में मआशी तौर पर पसमांदा मुसलमानों नौनिहालों को दाख़िल करवाने पर ज़ोर दिया ताके हुकूमत की तरफ से फ़ी बच्चा ख़र्च किए जा रहे सालाना 80हज़ार रुपये सही मुसर्रिफ़ में ख़र्च किए जा सकें।

स्कीम की कामयाबी मुस्तक़बिल में मुसलमानों के बेहतर ज़मानत होगी। प्रोजेक्टस माइनॉरिटी आरएमआईएस एजाज़ अहमद ने कहा कि पहले मरहले में 71 रेसिडेंशियल स्कूल का निशाना मुक़र्रर कियागया है जिसमें पांचवें ता सातवीं जमात के लिए दाख़िलों का सिलसिला जारी है। लड़कों और लड़कीयों के लिए अलाहिदा स्कूलस इमारतों का क़ियाम अमल में लाया जा रहा है। 71के मिनजुमला पच्चीस स्कूलस इमारतें तए हो चुकी है और सोसाइटी तेज़ी के साथ 71इमारतों के निशाने को पूरा करने में जुटी हुई है। एजाज़ अहमद ने कहा कि ए के ख़ान की निगरानी में सोसाइटी रियासत के अक़लियती तबक़ात को तालीम से जोड़ने की ग़रज़ से संजीदगी के साथ काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि इदारे सियासत हुकूमत तेलंगाना की मज़कूरा रेसिडेंशियल स्कीम के मुताल्लिक़ शऊर बेदारी में एक बेहतरीन प्लेटफार्म साबित होगा क्युं कि माज़ी में भी अकलियतों के मुताल्लिक़ हुकूमत तेलंगाना की मालना फ़लाही स्कीमात को कामयाब बनाने में इदारा सियासत ने अहम रोल अदा किया है।

TOPPOPULARRECENT