Tuesday , January 16 2018

हुकूमत तेलंगाना के वाटर ग्रिड प्रोग्राम में बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात की तरदीद

वज़ीर पंचायत राज-ओ-इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी के टी रामा राव‌ ने तेलंगाना हुकूमत के वाटर ग्रिड प्रोग्राम में बे क़ाईदगियों से मुताल्लिक़ कांग्रेसी क़ाइद दिग्विजय सिंह के इल्ज़ामात को मुस्तर्द कर दिया।

वज़ीर पंचायत राज-ओ-इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी के टी रामा राव‌ ने तेलंगाना हुकूमत के वाटर ग्रिड प्रोग्राम में बे क़ाईदगियों से मुताल्लिक़ कांग्रेसी क़ाइद दिग्विजय सिंह के इल्ज़ामात को मुस्तर्द कर दिया।

उन्होंने दिग्विजय सिंह को चैलेंज किया कि वो बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात के हक़ में सबूत पेश करें। के टी आर ने तेलंगाना में एक ख़ानदान की हुकूमत से मुताल्लिक़ इल्ज़ामात को भी मज़हकाख़ेज़ क़रार दिया। अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए के टी रामा राव‌ ने कहा कि दिग्विजय सिंह किसी सबूत के बगै़र हुकूमत के वाटर ग्रिड प्रोग्राम पर तन्क़ीद कररहे हैं।

उन्होंने कहा कि पिछ्ले 60 बरसों में मुल्क की किसी भी रियासत में इस तरह की मुनफ़रद स्कीम का आग़ाज़ नहीं किया गया जिस के तहत हर घर को साफ़ पीने का पानी सरबराह करने का मंसूबा है। उन्होंने कहा कि स्कीम पर अमल आवरी के लिए अभी टेंडरस तलब किए गए लेकिन दिग्विजय सिंह ने इल्ज़ाम आइद किया कि पाइप कंपनीयों से कमीशन हासिल किया जा रहा है। दिग्विजय सिंह चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से ख़िदमात अंजाम दे चुके हैं उन्हें कम-अज़-कम इस तरह के बेबुनियाद इल्ज़ामात से गुरेज़ करना चाहीए। उन्होंने सवाल किया कि क्या पानी की सरबराही पाइपलाइन के बगै़र की जा सकती है। के टी आर ने कहा कि चन्द्रशेखर राव‌ ने तेलंगाना के हर घर को पाइपलाइन के ज़रीये पानी की सरबराही का अज़म किया है और इस मिशन की अदम तकमील की सूरत में वोट के लिए रुजू ना होने की बात कही है।

उन्होंने कहा कि अवाम की भलाई से मुताल्लिक़ इस मुनफ़रद स्कीम को निशाना बनाते हुए दिग्विजय सिंह ने दरअसल अपनी मालूमात में कमी का सबूत दिया है। उन्हें चाहीए कि वो कांग्रेस क़ाइदीन की तरफ से लिखी गई तहरीर को पढ़ने से पहले इस पर अज़ सर-ए-नौ ग़ौर करें। के टी आर ने कहा कि अगर वाटर ग्रिड प्रोग्राम में कमीशन हासिल किया जा रहा है तो क्या साबिक़ में कांग्रेस हुकूमत ने पंचायत राज के तहत जो भी प्रोजेक्ट मुकम्मिल किए क्या इस सिलसिले में कमीशन हासिल किया गया था।

उन्होंने कांग्रेस को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि जल यगनम स्कीम के नाम पर बे क़ाईदगीयाँ कांग्रेस हुकूमत में की गईं। स्कॅमस का दूसरा नाम कांग्रेस पार्टी है और मुल्क भर में कई स्कॅमस के लिए कांग्रेस ज़िम्मेदार है।

आंध्र प्रदेश में कई आई ए एस ओहदेदार स्कॅम के सबब जेल जा चुके हैं और इस दौर के कई वुज़रा अभी भी सी बी आई तहक़ीक़ात का सामना कररहे हैं। कमीशन हासिल करने की रिवायत कांग्रेस की रही है जबकि टी आर एस हुकूमत मुकम्मिल शफ़्फ़ाफ़ियत के साथ स्कीम पर अमल आवरी करेगी।

TOPPOPULARRECENT