Wednesday , December 13 2017

हुकूमत मिस्र से मुफ़ाहमती इक़दामात और मख़लूत हुकूमत के क़ियाम की अमरीकी ख़ाहिश

अमरीका ने मिस्र की उबूरी हुकूमत से ख़ाहिश की है कि वो अपने त्यक्क़ुनात की पाबंद रहे और मुफ़ाहमत के इक़दामात करे जिन के नतीजे में मुंतख़िबा हुकूमत की ज़ेरे क़ियादत एक मख़लूत हुकूमत आज़ादाना और मुंसिफ़ाना इंतिख़ाबात के ज़रीए तशकील दी जा स

अमरीका ने मिस्र की उबूरी हुकूमत से ख़ाहिश की है कि वो अपने त्यक्क़ुनात की पाबंद रहे और मुफ़ाहमत के इक़दामात करे जिन के नतीजे में मुंतख़िबा हुकूमत की ज़ेरे क़ियादत एक मख़लूत हुकूमत आज़ादाना और मुंसिफ़ाना इंतिख़ाबात के ज़रीए तशकील दी जा सके।

वज़ीर ख़ारिजा अमरीका जॉन कैरी ने अपने एक ब्यान में कहा कि अगर मिस्र की उबूरी हुकूमत पेशरफ़्त करती है तो अमरीका उबूरी हुकूमत पर ज़ोर देता है कि वो हुक़ूक़ और आज़ादियों की जिन की नए दस्तूर में मिस्री अवाम के फ़ायदे के लिए ज़मानत दी गई है,

हिफ़ाज़त करे और तमाम सयासी पार्टियों पर मुश्तमिल एक मख़लूत क़ौमी हुकूमत क़ायम करने की पहल करे। उन्हों ने कहा कि तहरीर चौक में जो काम शुरू हुआ था, उसे वहीं ख़त्म नहीं होना चाहीए।

उबूरी हुकूमत इक़्तेदार की मुंतक़ली की पाबंद है, जिस के ज़रीए जम्हूरी हुक़ूक़ में तौसीअ हो सकेगी और एक मुंतख़िबा अरकान की ज़ेरे क़ियादत सब को साथ लेकर चलने वाली हुकूमत आज़ादाना और मुंसिफ़ाना इंतिख़ाब के ज़रीए क़ायम की जा सकेगी।

उन्हों ने कहा कि अब वक़्त आ गया है कि हुकूमत अपने त्यक्क़ुनात को अमली शक्ल दे और आलमी इंसानी हुक़ूक़ के एहतेराम को तमाम मिस्री अवाम के सिलसिले में यक़ीनी बनाए। मिस्री राय देहिन्दों ने 98 फ़ीसद से ज़्यादा ताईद के ज़रीए नए दस्तूर की मंज़ूरी दे दी है।

उन्हों ने कहा कि वो शाम के बारे में मुक़र्रर अहम इजलास में शख़्सी तौर पर शिरकत करेंगे। उन्हों ने कहा कि हम सब जानते हैं कि हमारा रास्ता मुश्किल है। शामी अवाम से उन की रास्त अपील है कि वो अपने सफ़र के हर मरहला पर उन के साथ रहेंगे। क्युंकि वो शामियों के लिए आज़ादी और वक़ार चाहते हैं।

TOPPOPULARRECENT