Sunday , December 17 2017

हुक्मनामा मुल्क के मफ़ाद में

मिस्र के सदर मुहम्मद मर्सी ने कहा है कि इन के इख़्तयारात को कम करने वाले फ़ौजी हुक्म को रद्द करने और फ़ौज के चोटी के जनरलों को रिटायर करने का उन का फ़ैसला किसी फ़र्द या इदारा के ख़िलाफ़ नहीं है।

मिस्र के सदर मुहम्मद मर्सी ने कहा है कि इन के इख़्तयारात को कम करने वाले फ़ौजी हुक्म को रद्द करने और फ़ौज के चोटी के जनरलों को रिटायर करने का उन का फ़ैसला किसी फ़र्द या इदारा के ख़िलाफ़ नहीं है।

मर्सी ने रमज़ान के मौक़ा पर कल अपनी तक़रीर में कहा कि मैंने जो फ़ैसला लिया है इस का मक़सद किसी फ़र्द या इदारा को चोट पहूँचाना नहीं है। मैं किसी को भी मनफ़ी(निगेटिव) पैग़ाम नहीं देना चाहता हूँ।

TOPPOPULARRECENT