Monday , December 11 2017

हुज्जाज किराम को सिर्फ़ 5 लीटर ज़मज़म की सरब्राही

हज 2014 के हुज्जाज किराम को हज कमेटी जानिब से सिर्फ़ 5 लीटर ज़मज़म सरब्राह किया जाएगा। सऊदी हुकूमत की जानिब से मौसूला हिदायत के मुताबिक़ हज कमेटी ऑफ़ इंडिया ने फी कस सिर्फ़ पाँच लीटर ज़मज़म फ़राहम करने का फैसला किया है जबकि साबिक़ में फ़ी आज़ि

हज 2014 के हुज्जाज किराम को हज कमेटी जानिब से सिर्फ़ 5 लीटर ज़मज़म सरब्राह किया जाएगा। सऊदी हुकूमत की जानिब से मौसूला हिदायत के मुताबिक़ हज कमेटी ऑफ़ इंडिया ने फी कस सिर्फ़ पाँच लीटर ज़मज़म फ़राहम करने का फैसला किया है जबकि साबिक़ में फ़ी आज़िम हज 10 लीटर ज़मज़म फ़राहम किया जाता था।

जनाब अता उर्रहामन चीफ एग्ज़ीक्युटिव ऑफीसर सेंट्रल हज कमेटी ऑफ़ इंडिया ने इस बात की तौसीक़ करते हुए बताया कि ये फैसला सऊदी हुक्काम की जानिब से किया गया है। इस फैसला में मर्कज़ी हज कमेटी का कोई दख़ल नहीं है।

उन्हों ने मज़ीद बताया कि मर्कज़ी हज कमेटी ने मदीना मुनव्वरा में आज़मीने हज को ताम की सहूलत फ़राहम करने का जो फैसला किया गया है इस सिलसिले में तमाम इंतेज़ामात मुकम्मल कर लिए गए हैं और मदीना मुनव्वरा में 8 दिन के क़ियाम के दौरान दो वक़्त ताम की सहूलत फ़राहम की जाएगी।

इलावा अज़ीं नाश्तादान भी फ़राहम करने का फैसला किया गया है। इस ख़ुसूस में हज कमेटी ने सऊदी हुकूमत की जानिब से मुसद्दिक़ा कैट्रिंग ख़िदमात के हुसूल का भी फैसला करते हुए उसे क़तईयत देदी है।

उन्हों ने कहा कि आज़मीने हज के सामान के वज़न के मुआमला में कोई तरमीम नहीं की गई है बल्कि आज़मीने हज 22.5 किलो ग्राम के दो बैगेज के इलावा 10 किलो वज़नी हैंड बैगेज साथ रख सकते हैं। उन्हों ने बताया कि आज़मीन सफ़री तैयारीयों, हवाई जहाज़ के किराए के इलावा दीगर उमूर को तेज़ी के साथ क़तईयत दी जा रही है।

TOPPOPULARRECENT