Tuesday , August 14 2018

हुर्रियत लीडरों से मिले सरताज, हैरान हुए राजनाथ

कश्मीरी अलगाववादी तंज़ीम हुर्रियत कांफ्रेंस के लीडरों ने इतवार की देर शाम यहां पाकिस्तान के वज़ीर ए आज़म नवाज शरीफ के खास सफीर सरताज अजीज से मुलाकात की अजीज एशिया यूरोप कांफ्रेंस आसेम के वज़ीर ए खारेज़ा की 11वीं बैठक में हिस्सा लेने इ

कश्मीरी अलगाववादी तंज़ीम हुर्रियत कांफ्रेंस के लीडरों ने इतवार की देर शाम यहां पाकिस्तान के वज़ीर ए आज़म नवाज शरीफ के खास सफीर सरताज अजीज से मुलाकात की अजीज एशिया यूरोप कांफ्रेंस आसेम के वज़ीर ए खारेज़ा की 11वीं बैठक में हिस्सा लेने इतवार की दोपहर नई दिल्ली पहुंचे |

शाम साढे छह बजे पाकिस्तान हाई कमीशन में हुई इस मुलाकात के बारे में ज़राये ने बताया कि बैठक में कश्मीर की हालात पर बहस हुई पाकिस्तान में नवाज शरीफ की हुकूमत बनने के बाद हुर्रियत लीडरों की पाकिस्तान के किसी बड़े लीडर के साथ यह पहली मुलाकात थी |

हिंदुस्तान ने इस मुलाकात पर कोई रद्दे अमल ज़ाहिर नही किया | वज़ीर ए खारेजा सलमान खुर्शीद की आसेम वज़ीर ए खारेजा की बैठक के दौरान अजीज से अलग से मिलने का प्रॊग्राम म है, जिसमें वह एलओसी पर जंग ए बंदी के पाकिस्तानी फौज की तरफ से खिलाफवर्जी का मामला उठाएंगे |

इस मुलाकात के बाद, बीजेपी के सदर राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर के अलगाववादी लीडरों के साथ पाकिस्तान के वज़ीर ए आज़म के कौमी सलामती के सलाहकार सरताज अजीज को नई दिल्ली में मुलाकात करने की इज़ाज़त देकर मरकज़ी हुकूमत ने एक गलती की है |

राजनाथ ने ट्वीट किया है, मैं अंजान हूं कि यूपीए हुकूमत ने पाकिस्तान के वज़ीर ए आज़म के सलाहकार सरताज अजीज को कश्मीर के अलगावावादी लीडरों से नई दिल्ली में मुलाकात की इज़ाज़त दी है | उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दा हिंदुस्तान का अंदरूनी मामला है और इसका घरेलू हल होना चाहिए |

उन्होंने कहा है, सरताज अजीज को हिंदुस्तान की ज़मीन पर अलगाववादियों के साथ बातचीत करने की इज़ाज़त देकर यूपीए हुकूमत ने एक और भूल की है |

उन्होंने सवाल किया है, जिस वक्त हुकूमत ए पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में जारिहाना सरगर्मियों के मशरूफ दिखाई देती है तब अजीज को मौका क्यों दिया गया?

TOPPOPULARRECENT