हुसैनी आलम गर्ल्स कॉलेज तक बसें चलाने मेयर के वादा का क्या हुआ ?

हुसैनी आलम गर्ल्स कॉलेज तक बसें चलाने मेयर के वादा का क्या हुआ ?
हैदराबाद 16 जनवरी : पुराना शहर में जहां उर्दू मीडिएम मदारिस को एक साज़िश के तहत ख़त्म किया जा रहा है । वहीं मौजूदा स्कूलों और कॉलिजों से भी ग़फ़लत बरती जा रही है । हिंदूस्तान ख़ासकर आंध्र प्रदेश में लड़कियों की तालीम पर ख़ुसूसी तवज

हैदराबाद 16 जनवरी : पुराना शहर में जहां उर्दू मीडिएम मदारिस को एक साज़िश के तहत ख़त्म किया जा रहा है । वहीं मौजूदा स्कूलों और कॉलिजों से भी ग़फ़लत बरती जा रही है । हिंदूस्तान ख़ासकर आंध्र प्रदेश में लड़कियों की तालीम पर ख़ुसूसी तवज्जा देने के दावे किए जाते हैं लेकिन अमली तौर पर इन दावों को सच कर दिखाने का वक़्त आता है ।

हुकूमत सयासी क़ाइदीन नुमाइंदगी का दावा करने वाले अनासिर हर कोई ख़ामोशी अख्तियार कर लेते हैं । यहां के उर्दू मीडिएम मदारिस और कॉलेजेस म्यार तालीम और वसीअ औरअरीज़ इमारतों के बाइस मुल्क भर में मिसाली हुआ करते थे लेकिन लैंड ग्राबर्स ने इन स्कूलों का वजूद ही मिटा दिया हुकूमत और महकमा तालीम से लेकर अवामी नुमाइंदा मुजरिमाना ख़ामोशी अख्तियार किए हुए है ।

अफ़सोस के हर किसी ने वादा किया कि बस सर्विस शुरू की जाएगी लेकिन इन वादों पर अमल आवरी नहीं की जा सकती । 5 जुलाई 2012 को मुताल्लिक़ा एम एल ए के हमराह मेयर ने गवर्नमेंट गर्ल्स जूनियर कॉलेज हुसैनी आलम और गर्ल्स डिग्री एंड पी जी कॉलेज का तफ़सीली मुआइना किया ।

इस मौक़ा पर भी बुर्क़ापोश तालिबात ने उन्हें बताया कि कॉलेज तक बस सर्विस ना होने के बाइस उन्हें शदीद मुश्किलात का सामना करना पड़ रहा है । आर टी सी ने कुछ अर्सा के लिए बस सर्विस शुरू की थी लेकिन उसे चंद दिनों में ही बंद कर दिया गया ।

मेयर और एम एल ए ने बबांग दहल वादा किया था कि बस सर्विस हर हाल में शुरू की जाएगी और देवढ़ी ख़ूर्शीद जाह की अज़मत रफ़्ता को बहाल करने वो महकमा आसार क़दीमा से बात चीत करेंगे लेकिन अफ़सोस के आज तक उन लोगों के वाअदे पूरा ना हो सके ।

दूसरी जानिब नॉर्थ ज़ोन में ज़ोनल सतह की कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए जी एच एम सी मुहम्मद माजिद हुसैन ने पुर ज़ोर अंदाज़ में कहा था कि कामों की तकमील में ताख़ीर पर कार्रवाई होगी । कम अज़ कम उन्हें अपने क़ौल और फे़ल में पाए जाने वाले तज़ाद को दूर करना चाहीए ।

आप को बतादें कि साल 2005 में हुसैनी आलम गर्ल्स कॉलेज की बेहतरीन कारकर्दगी को देखते हुए उसे नेशनल असेसमेंट अक्रेडेशन कौंसिल ने B+ का एज़ाज़ अता किया है । यहां की तालिबात के लिए बस सर्विस ही बहुत बड़ा मसअला बनी हुई है ।

महकमा आर टी सी शहर में सौ मीनी बस चलाने का एलान कर चुकी है ये बसें आख़िर कहाँ चलाई जा रही हैं । इस का जवाब उस के ओहदेदार ही बेहतर तौर पर दे सकते हैं ।( नुमाइंदा खुसूसी)

Top Stories