Sunday , November 19 2017
Home / Bihar News / हुस्न की आड़ में पाॅकेटमारी कर रहीं लड़कियां

हुस्न की आड़ में पाॅकेटमारी कर रहीं लड़कियां

पटना : शहर में अब लड़कियां पॉकेटमारी के धंधे में शामिल हो गयी हैं। हुस्न की आड़ में वे लोगों को झांसे में लेती हैं और मौका मिलते ही पॉकेट से पर्स या मोबाइल निकाल लेती हैं। लोगों को जब तक इसकी जानकारी होती है, तब तक देर हो चुकी होती है। लड़कियां फरार हो चुकी होती हैं। लड़कियों का गिरोह स्टेशन गाेलंबर, मौर्य लोक, जीपीओ गोलंबर, फ्रेजर रोड, बोरिंग रोड, अशोक राजपथ वगैरह इलाकों में सरगर्म है।

पॉकेटमारी की कई शिकायतें कोतवाली थाने व जीआरपी पटना जंकशन में पहुंच रही हैं। नाबालिग लड़िकयों के इस तरह के धंधे में शामिल होने की बात का खुलासा उस वक़्त हुआ, जब कोतवाली पुलिस की टीम ने स्टेशन गोलंबर पर सरगर्म तीन नाबािलग लड़िकयों को पकड़ लिया। उन लोगों के पास से एक हजार नकद बरामद किये गये हैं। उन लड़िकयों की उम्र 12 से 14 साल के आसपास है। लड़िकयां स्टेशन गोलंबर के आसपास झोपिड़यों में रहती थीं।

बताया जाता है कि गिरोह में शािमल लड़िकयां पॉकेटमारी में काफी माहिर होती हैं आैर पलक झपकते ही पॉकेट से पर्स या मोबाइल गायब कर देती हैं। साथ ही वे पॉकेटमारी के बाद भीड़ का फायदा उठा कर बाहर निकल जाती हैं। लड़की होने की वजह से उस पर कोई शक भी नहीं करता है। इस तरह की मुसलसल शिकायत मिलने के बाद पुलिस के कान खड़े हो गये। जांच में पुलिस को लड़िकयों के बारे में वाकिया को अंजाम दिये की जानकारी मिली। सादे वेश में पुलिस मुलाज़िम को तैनात किया गया।

पुलिस मुसलसल स्टेशन गोलंबर, जीपीओ गोलंबर व मौर्य लोक कॉम्प्लेक्स में मुश्तबा लड़के-लड़िकयों पर नजर रख रही थी। कुछ लड़िकयों को निशानदेही भी किया गया। इसके बाद उन लड़कियों की मौलूसीयत सामने आयीं और पकड़ी गयीं। उधर कई थानों से इस तरह की पॉकेटमारी की शिकायत आने पर एक खुसुसि टीम की तशकील किया गया है और कुछ भीड़-भाड़ वाले खास जगहों को निशानदेही कर वहां पर सादे वेश में पुलिस की तैनाती कर दी गयी है। ये पुलिस स्टेशन गोलंबर पर किसी ट्रेन के आने के बाद खुसुसि तौर पर निगाह रखते हैं, ताकि उसी वक़्त एक साथ काफी तादाद में लोग बाहर निकलते हैं। इसी तरह मौर्या लोक कॉम्प्लेक्स व बोरिंग रोड इलाकों में शाम में खुसुसि नजर रखी जा रही है।

पटना शहर में पॉकेटमारी के धंधे में नाबालिग बच्चों के शामिल होने की कई वारदात पटना में सामने आ चुकी हैं। कई बच्चे पकड़े भी गये थे। ये बच्चे भी किसी भी सख्श में सट कर उनके पर्स या मोबाइल फोन निकाल लेते थे। इन बच्चों से पुलिस को यह जानकारी मिली कि मोकामा से बच्चों को पटना लाकर यह धंधा करवाया जाता था। फिलहाल बच्चों की तरफ से इस क़िस्म की वारदात को अंजाम देने के मामले में काफी कमी आयी है, लेकिन लड़कियों की तरफ से पॉकेटमारी का धंधा शुरू किये जाने के बाद एक बार फिर से पुिलस के लिए परेशानी बढ़ गयी है।

 

TOPPOPULARRECENT