हेडली और तहव्वुर राना को अदालत में पेश करने का हुक्म

हेडली और तहव्वुर राना को अदालत में पेश करने का हुक्म
दिल्ली की अदालत ने एन आई ए को हिदायत दी है कि 31 मई को पाकिस्तानी नज़ाद अमेरीकी शहरी डेविड हेडली इसके साथी तहव्वुर राना , लश्कर ए तैयबा के बानी हाफ़िज़ सैयद और 26/11 मुंबई हमलों के सरग़ना ज़की अलरहमान लखवी को मुल्क में मुबय्यना तौर पर कई दह

दिल्ली की अदालत ने एन आई ए को हिदायत दी है कि 31 मई को पाकिस्तानी नज़ाद अमेरीकी शहरी डेविड हेडली इसके साथी तहव्वुर राना , लश्कर ए तैयबा के बानी हाफ़िज़ सैयद और 26/11 मुंबई हमलों के सरग़ना ज़की अलरहमान लखवी को मुल्क में मुबय्यना तौर पर कई दहश्तगर्द हमलों में मुलव्वस होने की बिना पेश किया जाये।

डिस्ट्रिक्ट जज एच एस शर्मा ने पाकिस्तानी फ़ौजी ओहदेदारों मेजर इक़्बाल और मेजर समीर अली, अलक़ायदा के रुकन इलयास कश्मीरी , हेडली के करीबी साथी साजिद मलिक और साबिक़ पाकिस्तानी फ़ौजी ओहदेदार अबदुर्रहमान हाश्मी के ख़िलाफ़ ताज़ा नाक़ाबिल ज़मानत वारंट जारी किए।

ये तमाम मुक़द्दमा के मुआविन मुल्ज़िम हैं। एन आई ए ने अदालत को बताया कि इससे पहले जारी कर्दा वारंटस और समन पेश नहीं किए जा सके थे चुनांचे अदालत ने ताज़ा वारंट जारी करते हुए मुआमला की आइन्दा समाअत 31 मई को मुक़र्रर की है। एन आई ए ने अदालत को बताया कि हेडली और तहव्वुर राना के ख़िलाफ़ मुंबई पुलिस ने पहले ही रेड कॉर्नर नोटिस जारी की है।

Top Stories