Sunday , December 17 2017

हेमंत झा बने स्वराज इंडिया पूर्वांचल मोर्चा के पहले अध्यक्ष

राजधानी दिल्ली क्षेत्र में पूर्वांचल से जुड़े नागरिकों की मूलभूत आवश्यकताओं और आकांक्षाओं पर सांगठनिक रूप से काम करने के लिए स्वराज इंडिया ने अपने पूर्वांचल मोर्चा का गठन कर लिया है। बुराड़ी विधानसभा निवासी 45 वर्षीय हेमंत झा को मोर्चे की अध्यक्षता की ज़िम्मेदारी दी गई है।

दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक और नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ सेल्स से मैनेजमेंट की पढ़ाई कर चुके हेमंत छात्र जीवन से ही प्रवासी सहपाठियों की समस्याओं को लेकर महाविद्यालय और विश्वविद्यालय में समाधान ढूंढते थे। विश्व मैथिल संघ (पंजी.) के संस्थापक अध्यक्ष हेमंत झा को पूर्वांचल से संबंधित कई सांस्कृतिक और सामाजिक मंचों से जुड़ने और नेतृत्व देने का लंबा अनुभव रहा है। मैथिली साहित्य महासभा के संस्थापक सदस्य व उपाध्यक्ष रहने के अलावा हेमंत सेलिब्रेटिंग लाइफ़ फाउंडेशन (वरिष्ठ नागरिकों के लिए कार्यरत) के उपाध्यक्ष भी हैं।

आपको बता दें कि पिछले 2 अक्टूबर को ही अपना एक वर्ष पूरा करने वाली नवगठित राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया का ज़ोर फिलहाल संगठन निर्माण पर है। इसी के तहत पार्टी ने सर्वेश वर्मा के नेतृत्व में महिला स्वराज मोर्चा और राजीव यादव के नेतृत्व में दिल्ली देहात मोर्चा की घोषणा की थी।

पूर्वांचल मोर्चा के नवनियुक्त अध्यक्ष हेमंत झा ने बताया कि राजधानी दिल्ली में पूर्वांचलियों के नाम पर सभी पार्टियां धोखेबाज़ी करती आई है। स्वराज इंडिया इस घटिया राजनीतिक संस्कृति को तोड़कर दिल्ली के पूर्वांचली समुदाय को अन्य समुदायों से जोड़ने, साथ मिलजुलकर प्रगति के रास्ते तैयार करने का काम करेगा।

पूर्वांचल मोर्चा के नए अध्यक्ष के अलावा अगले कुछ दिनों में मोर्चा की सांगठनिक रूपरेखा, कार्यक्रम और प्रदेश उपाध्यक्षों की टीम का ऐलान हो जाएगा।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने इस मौके पर हेमंत झा को बधाई देते हुए ध्यान दिलाया कि उन्होंने अपने सर एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी ली है। अनुपम ने बताया कि उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल से दिल्ली आने वाले अधिकतर भारतीय बेहतर अवसर और विकास के लिए आते हैं न कि पार्टियों का वोट बैंक बनने के लिए।

स्वराज इंडिया पूर्वांचल की कला, संस्कृति, सभ्यता और भाषा का सम्मान और उत्थान करते हुए नागरिकों की समस्याओं पर सतत कार्य करेगा और दिल्ली के सर्व समाज को एकजुट करके एक सौहार्दपूर्ण विकास का मॉडल बनाएगा।

TOPPOPULARRECENT