Wednesday , December 13 2017

हेलिकॉप्टर मामला: सी बी आई में शिकायत

नई दिल्ली, 15 फबरव‌री (पी टी आई) सी बी आई ने वज़ारत-ए-दिफ़ा की शिकायत पर एक मुक़द्दमा दर्ज कर लिया ताकि वी वी आई पी हेलिकॉप्टरस‌ के 3,600 करोड़ के मुआमलात को यक़ीनी बनाने के लिए इतालवी कंपनी की तरफ़ से मुबय्यना तौर पर रिश्वतों की अदायगी की तह

नई दिल्ली, 15 फबरव‌री (पी टी आई) सी बी आई ने वज़ारत-ए-दिफ़ा की शिकायत पर एक मुक़द्दमा दर्ज कर लिया ताकि वी वी आई पी हेलिकॉप्टरस‌ के 3,600 करोड़ के मुआमलात को यक़ीनी बनाने के लिए इतालवी कंपनी की तरफ़ से मुबय्यना तौर पर रिश्वतों की अदायगी की तहकीकात की जाये।

एजैंसी ने ये शिकायत दर्ज कर ली है ताकि ये पता चलायाजा सके कि भारती शहरीयों के ख़िलाफ़ रिश्वत जो के इल्ज़ामात लगाए गए हैं वो दुरुस्त हैं या नहीं और आया वाक़ई कोई रिशवत‌ अदा किया गया है या नहीं। सी बी आई ज़राए ने ये बात बताई ।तहकीकात के बाक़ायदा आग़ाज़ से पहले शिकायत पहला क़दम है।

वज़ारत-ए-दिफ़ा के हुक्काम की एक टीम ने इस केस के बारे दस्तावेज़ात सी बी आई के सपुर्द कर दिए। वज़ारत से शिकायत मिलने के फ़ौरी बाद सी बी आई की तरफ़ से ये फ़ैसला किया है कि आया इस में कोई ख़ास अहम इल्ज़ाम बदउनवानी से मुताल्लिक़ हैं या नहीं या इस में किसी सरकारी अहलकार के ख़िलाफ़ इल्ज़ामात की नवीत किया है क्योंकि इस तरह के मामलात सी बी आई के इलाक़े में आते हैं।

सी बी आई की टीम ने कल हुक्काम से कहा था कि वो मुताल्लिक़ा फ़ईलें उसे फ़राहम कर दी जो किसी अंदरूनी तहकीकात से मुताल्लिक़ हैं। ये हेलिकॉप्टरस‌ इतालवी कंपनी से सदर जमहूरीया वज़ीर-ए-आज़म और दीगर अहम तरीन शख़से तो सफ़र के लिए हासिल किए गए थे।

भारत ने फबरव‌री 2010 में 12 तीन इंजन वाले AW-101 हेलिकॉप्टरस‌ के खरीदी के लिए मुआहिदा किया था पीर को इतालवी एजैंसीयों ने उस वक़्त कंपनी के सी ई ओ गेवसपे ओरसी को गिरफ़्तार किया था, जिन्होंने इस मामले के लिए रिशवतें देने का इल्ज़ाम आइद किया था।

TOPPOPULARRECENT