Saturday , December 16 2017

हैदराबादी शिकारी ने आदमख़ोर चीते को हलाक कर दिया

हैदराबादी शिकारी नवाब शफ़ाअत अली ख़ान ने इतवार के रोज़ रियासत हिमाचल प्रदेश के ज़िला मंडी में दहश्त फैलाने वाले आदमख़ोर चीते को मार गिराया । आदमख़ोर चीता जो कि मुक़ामी अफ़राद के लिए वबाल जान बन गया था को हलाक करने लाईसेंस याफ़्त

हैदराबादी शिकारी नवाब शफ़ाअत अली ख़ान ने इतवार के रोज़ रियासत हिमाचल प्रदेश के ज़िला मंडी में दहश्त फैलाने वाले आदमख़ोर चीते को मार गिराया । आदमख़ोर चीता जो कि मुक़ामी अफ़राद के लिए वबाल जान बन गया था को हलाक करने लाईसेंस याफ़्ता शिकारी नवाब शफ़ाअत अली ख़ान को ज़िला डोगरा के फ़ारेस्ट ऑफीसर सेकॉल मौसूल हुआ।

हुकूमत हिमाचल प्रदेश से 53 साला ख़ान को अहकामात मौसूल हुए कि वो ज़िला मंडी पहुंचे । इस पर शफ़ाअत अली ख़ान जो कि ईद की तैयारीयों में मसरूफ़ थे अपनी 458 मैग्नम राइफ़ल के साथ दिल्ली पहुंचे।

शफ़ाअत अली ख़ान ने चन्दीगढ़ से 250 किलोमीटर दूर थनाग पहुंचे जहां जंगलात के ओहदेदारों ने उन्हें चीता के इमकानी मुक़ामात से वाक़िफ़ करवाया । इस आदमख़ोर चीते ने 25 साला ख़ातून राधा देवी को हलाक और 52 साला मनी देवी ख़ातून को उठा कर ले गया था जब कि इस के शौहर और बेटे ने उस को ख़ून के निशानात की मदद से ढ़ूढ़ने की कोशिश की।

ये इलाक़ा ऊंचे पहाड़ों और घने जंगलात पर मुश्तमिल है । हैदराबादी शिकारी नवाब शफ़ाअत अली ख़ान इतवार के रोज़ चीते की गोई को ढ़ूढ़ने में कामयाब हुए । उन्हों ने चीते की गर्दन पर गोली दाग़ी जिस से आदमख़ोर चीता ढेर हो गया । चीते के मुर्दा जिस्म को थनाग लाया गया जहां उस को देखने मुक़ामी अफ़राद का हुजूम जमा हो गया था। (एजेंसीज़)

TOPPOPULARRECENT