Wednesday , December 13 2017

हैदराबाद इज्तिमाई शादियों के लिए हिन्दुस्तान में अपनी अलग मिसाल रखता है- ज़ाहिद अली ख़ान

हैदराबाद 12 मई- (सियासत न्यूज़)-रोज़नामा सियासत के एडिटर जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ने कहा कि हैदराबाद इज्तिमाई शादियों के लिए हिन्दुस्तान में अपनी अलग मिसाल रखता है। इसमें न सिर्फ़ समाजी इसलाह के नये पहलू खुलते हैं, बल्कि क़ौमी एकजहती औ

हैदराबाद 12 मई- (सियासत न्यूज़)-रोज़नामा सियासत के एडिटर जनाब ज़ाहिद अली ख़ान ने कहा कि हैदराबाद इज्तिमाई शादियों के लिए हिन्दुस्तान में अपनी अलग मिसाल रखता है। इसमें न सिर्फ़ समाजी इसलाह के नये पहलू खुलते हैं, बल्कि क़ौमी एकजहती और अपसी भाईचारे की नई राहों को हमवार किया जा सकता है।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ान आज यहाँ गोशामहल पुलिस ग्राउण्ड में राजस्थानी सैनिक क्षत्रिय माली संघ की इज्तेर्मई शादियों की त़करीब को मुख़ातिब कर रहे थे। उन्होंने इस प्रोग्राम के लिए राजस्थानी भाइयों को मुबारकबाद दी। साथ ही शादी के बंधन में बंधने वाले सभी जोड़ों को नयी जिन्दगी की शुरूआत के लिए नेक तमन्नाओं का इज़्हार किया। अपने खिताब में कहा कि उन्होंने कई बरस पहले उर्स शऱीफ़ के पंखे के जुलूस को इज्तेमाई शादियों के प्रोग्राम में बदल दिया था, जिसके ज़रिए मुसलमानों के अलावा हिन्दू और दूसरे मज़ाहिब की ग़रीब बेटियों के घर बसाने का म़कसद पूरा करने में कामयाबी मिली। उन्होंने कहा कि इस तरह इज्तेमाई शादियाँ समाज से कई बुराइयों को दूर कर सकती हैं। जहेज के अलावा ऊच नीच और दूसरी बुराइयों को समाज से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि समाज में शादियों में फ़ुज़ूल खर्ची को कम करने जानिब ध्यान देना होगा। इससे जिन घरों में ग़रीबी की वज्ह से बिन ब्याही बेटियाँ हैं, उनकी भी हाथ पीले किये जा सकेंगे।

जाहिद साहब ने कहा कि शादियाँ कम खर्च में हों तो उसमें बरकत भी बनी रहती हैं। उन्होंने बताया कि वो नेशनल इन्टीग्रेशन कौन्सिल के मेम्बर के तौर पर आपसी भाई चारे का पैग़ाम मुल्क भर में पहुंचा रहे हैं। हैदराबाद में इज्तिमाई शादियों की कामियाबी का पैग़ाम भी वे कौन्सिल को देंगे।

इस म़ौके पर तेलुगु देशम पार्टी के लीडर अली ग़ुत्मी, घनशाम भाटी, रामपाल देवड़ा, प्रेम कुमार धूत, एम.एन. श्रीनिवास और राजस्थानी माली समाज के अरकान मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT