Monday , December 18 2017

हैदराबाद के इंजीनियर ने प्लेन की लोकेशन ट्रेस कर अपलोड की तस्वीर

पिछले 11 दिन से लापता मलयेशियाई तैय्यारे की तलाश में जहां दुनिया भर की सर्च टीमें कड़ी मशक्कत कर रही हैं, वहीं हैदराबाद के गच्चीबोली में एक आईटी प्रफेशनल ने अपने ऑफिस में काम करते हुए प्लेन की लोकेशन ट्रेस की है 8 मार्च से लापता इस ब

पिछले 11 दिन से लापता मलयेशियाई तैय्यारे की तलाश में जहां दुनिया भर की सर्च टीमें कड़ी मशक्कत कर रही हैं, वहीं हैदराबाद के गच्चीबोली में एक आईटी प्रफेशनल ने अपने ऑफिस में काम करते हुए प्लेन की लोकेशन ट्रेस की है 8 मार्च से लापता इस बोइंग प्लेन की तलाश में यह एक अहम कड़ी साबित हो सकती है |

पेशे से आईटी ऐनालिस्ट अनूप माधव ने डिजिटल ग्लोब सैटलाइट क्यूबी02 पर पिछले कुछ दिनों की इमेज की गहरी पड़ताल की इस दौरान उनकी नजर 8 मार्च की एक तस्वीर पर गई और उन्होंने राहत की सांस ली |

माधव ने 8 मार्च की एक बड़े एयरक्राफ्ट की सैटलाइट इमेज ढूंढ निकाली, जो अंडमान आइलैंड के पास काफी कम ऊंचाई पर उड़ रहा था | उनका मानना है कि यह मलयेशियन एयरलाइंस का बोइंग 777 प्लेन हो सकता है |

29 साल के इस आईटी प्रफेशनल ने दुनिया भर के लाखों लोगों की तरह खुद को इस मिशन से जोड़ा और लापता प्लेन की तलाश शुरू की, जिसमें 239 लोग सवार थे उन्होंने अपनी इस खोज को अमेरिकी न्यूज चैनल सीएनएन की वेबसाइट पर जुमे के रोज़ पोस्ट किया |

माधव की तरफ सीएनएन की वेबसाइट पर अपलोड प्लेन की लोकेशन की इमेज को अब तक करीब 20 हजार लोग देख चुके हैं.कई लोगों ने इस पर कॉमेंट किए हैं |

तस्वीर जारी करने वाले इंजिनियर अनूप माधव ने लिखा, मुझे भरोसा है कि यह तस्वीर उस लापता तैय्यारे की है, क्योंकि इसके बहुत से वजुहात हैं | पहला यह कि यह तस्वीर अंडमान आइलैंड के शिबपुर एयरबेस के बेहद पास जंगल के ऊपर की है |

इस एयरबेस को इस्तेमाल करने की इजाजत सिर्फ डिफेंस फोर्स को है और इस इलाके में सिविलियन एयरक्राफ्ट को ले जाने की इज़ाज़त नहीं है | इमेज के क्लोजर लुक को देखने पर पता चलता है कि यह काफी कम ऊंचाई पर उड़ान भर रहा है, क्योंकि बादल इसके ऊपर है | यह दिखाता है कि ऐसा रडार के दायरे से बचने के लिए किया गया है | सबसे जरूरी चीज यह है कि लापता प्लेन का स्टैंडर्ड स्केल और कलर इस तस्वीर से मेल खाता है |

‍बशुक्रिया: पलपल इंडिया

TOPPOPULARRECENT