Sunday , December 17 2017

हैदराबाद तकनीकी विशेषज्ञ हाशमी की सफ़दर हाशमी की तरह की गयी हत्या

हैदराबाद: 26 वर्षीय टीसीएस तकनीकी विशेषज्ञ हाशमी की, मशहूर रंगकर्मी सफदर हाशमी, (जिनकी 1989 में बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी) की तरह हत्या कर दी गयी |

हाशमी के 56 वर्षीय पिता यूरी गागरिन, ने अपने बेटे का नाम मशहूर रंगकर्मी सफदर हाशमी के नाम पर रखा था | प्रमुख रंगकर्मी और सीपीएम नेता हाशमी की साहिबाबाद के झंडापुर में 1989 में भ्रष्टाचार के खिलाफ एक नाटक के मंचन के दौरान हत्या कर दी गयी थी |

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

वामपंथी सांस्कृतिक संगठन प्रमुख की हत्या के 9 आरोपियों को उनकी हत्या के आरोप में 14 साल बाद , 2003 में एक स्थानीय अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी |

एपी सीपीएम के राज्य सचिव पी मधु के भतीजे हाशमी बहुत बचपन से ही वामपंथियों की विचारधारा की ओर आकर्षित थे और बहुत ही मददगार व्यक्ति था।

एपी की सीपीएम के राज्य सचिव पी मधु ने कहा कि “हाशमी अपने पिता की तरह किसी भी अंधविश्वास में यक़ीन नहीं करता था बहुत बोल्ड लड़का था” |
हाशमी की मौत से दुखी, एचसीएल क्षेत्रीय प्रबंधक, निर्मल कुमार बेहुरिया ने कहा, “वह बहुत शांत मिज़ाज था | हमने एक बहुत अच्छा दोस्त खो दिया है |

M.Tech डिग्री धारक, हाशमी 3 हफ़्ते पहले ही टीसीएस में शामिल हुए थे | उनके एक बेरोज़गार बिजली मिस्त्री-पड़ोसी नरेश रेड्डी ने उनसे 10,000 रूपये की मांग की थी लेकिन रूपये देने से इंकार करने पर हाशमी की हत्या कर दी गयी |

पुलिस ने बताया कि रेड्डी को गिरफ़्तार कर उसके ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता(IPC) की धारा 302 (हत्या) मामला दर्ज कर लिए गया है मामले की जाँच की जा रही है |

TOPPOPULARRECENT