हैदराबाद में बाढ़ प्रभावित परिवारों को 10 हजार रुपये देने का ऐलान

हैदराबाद में बाढ़ प्रभावित परिवारों को 10 हजार रुपये देने का ऐलान

हैदराबाद, 19 अक्टूबर । तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को हैदराबाद और उसके आसपास बाढ़ से प्रभावित प्रत्येक घर को तत्काल सहायता राशि के रूप में 10,000 रुपये देने की घोषणा की।

उन्होंने यह भी घोषणा की कि बारिश और बाढ़ में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए सभी घरों को एक लाख रुपये की सहायता दी जाएगी और आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त घरों में रहने वाले लोगों में से प्रत्येक को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा, हैदराबाद में इतनी भारी बारिश देखी गई है, जो कि पिछले 100 वर्षों में नहीं देखी गई थी। भारी बारिश और बाढ़ की वजह से निचले इलाकों की झुग्गियों में रहने वाले लोगों, विशेषकर गरीबों को बहुत नुकसान हुआ है। सरकार की प्राथमिक जिम्मेदारी उनकी मदद करने की है। इसलिए, हमने निचले इलाकों में रहने वाले गरीबों के प्रत्येक प्रभावित घरों में 10,000 रुपये की मदद देने का फैसला किया है।

गरीबों की मदद के लिए सरकार नगर निगम प्रशासन विभाग को तुरंत 550 करोड़ रुपये जारी कर रही है।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद, वित्त विभाग ने विभाग को 550 करोड़ रुपये जारी भी कर दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने पिछले हफ्ते मृतकों के परिवारों को पांच-पांच लाख मुआवजे की घोषणा की थी।

13 अक्टूबर से राज्य में भारी बारिश और बाढ़ ने ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) की सीमा में 33 सहित कुल 70 लोगों की जान ले ली है।

मुख्यमंत्री राव, जिन्हें केसीआर के तौर पर भी जाना जाता है, उन्होंने हैदराबाद में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है, जो भारी बारिश और बाढ़ की वजह से काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं।

उन्होंने हैदराबाद, रंगारेड्डी और मेडचल मालकजगिरि जिलों के कलेक्टरों को निर्देश दिया कि वे मंगलवार से गरीबों को राशि वितरित करने के लिए टीमों को भेजें।

मुख्य सचिव सोमेश कुमार को 200 से 250 टीमों की स्थापना करके वित्तीय सहायता वितरण कार्यक्रम की निगरानी करने के लिए कहा गया है।

इसके साथ ही राव ने अधिकारियों को युद्धस्तर पर सभी सड़कों और अन्य बुनियादी सुविधाओं की मरम्मत करने और यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि जीवन जल्द से जल्द सामान्य हो जाए।

उन्होंने हैदराबाद में सभी मंत्रियों, विधायकों, नगरसेवकों, महापौर और उपमहापौर से कहा कि वे गरीबों की मदद करने के लिए अपनी जिम्मेदारी समझें और राहत कार्यों में सक्रिय रूप से भाग लें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार गरीबों की किसी भी संख्या तक मदद पहुंचाने के लिए तैयार है, भले ही उनकी संख्या लाखों में हो। इसलिए, प्रभावित परिवारों के विवरण को सहायता प्राप्त करने के लिए संबंधित अधिकारियों के ध्यान में लाया जाना चाहिए।

केसीआर ने टीआरएस नेताओं और कार्यकर्ताओं से भी राहत गतिविधियों में सक्रिय रूप से भाग लेने और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि अधिक से अधिक गरीबों को मदद मिल सके।

Top Stories