Monday , December 11 2017

हैदराबाद यूनिवर्सिटी : तालिबे इल्म की खुदकुशी मामले में सेंट्रल मिनिस्टर द्त्तात्रेय के खिलाफ केस दर्ज

हैदराबाद: हैदराबाद यूनिवर्सिटी में दो हफ्ते पहले हॉस्टल से बाहर खदेड़ दिए गए एक 22 साल के रिसर्च स्कॉलर के रविवार शाम खुदकुशी किए जाने के बाद से हंगामा मचा हुआ है। कहा जा रहा है कि तालिबे इल्म वेरमूला रोहित ने खुदकशी की है। स्टूडेंट्स का एक ग्रुप रोहित के लाश को लेकर रात भर धरने पर बैठा रहा। इन्होंने नारे लगाए और हुकूमत से मांग की कि उनकी बात सुनी जाए।

इसी बीच खबर आ रही है कि वज़ीरे तालीम स्मृति ईरानी ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी में टीम भेजी है। इस मामले में सेंटर में लेबर वज़ीर बंडारू दत्तात्रेय पर केस दर्ज कर लिया गया है। उनके अलावा वीसी अप्पा राव के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया गया है।

आज सुबह पुलिस का एक ग्रुप यहां पहुंचा और आठ स्टूडेंट्स को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके साथ ही पुलिसतालिबे इल्म के लाश को साथ ले गई।

रोहित गुंटूर ज़िले का रहने वाला था और सोशियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था। वह यूनविर्सिटी से निकाले जाने के बाद से कैंपस के बाहर तंबू लगाकर रह रहा था। उसके साथ चार और स्टूडेंट्स वहीं रहने को मजबूर थे क्योंकि उन पर भी हॉस्टल में घुसने पर बैन लगाया हुआ था।

अंबेडकर यूनियन के मेम्बर इन पांचों दलित स्कॉलर्स पर बीजेपी की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के एक कारकुन पर हमला करने के इलज़ाम थे।

गैरतलब है कि यूनिवर्सिटी ने रोहित समेत सभी को बुनयादी जांच में बेक़सूर करार दिया था। लेकिन बाद में जब मुबीना तौर पर सेंट्रल मिनिस्टर बंडारू दत्तात्रेय ने वज़ीरे तालीम स्मृति ईरानी को खत लिखा था , तब यूनिवर्सिटी ने अपना फैसला पलट लिया था।

TOPPOPULARRECENT