हॉलैंड को अपने किए की कीमत चुकानी पड़ेगी: तुर्क राष्ट्रपति

हॉलैंड को अपने किए की कीमत चुकानी पड़ेगी: तुर्क राष्ट्रपति
Click for full image

इस्तांबुल: नीदरलैंड के दो तुर्क मंत्रियों को देश में भाषण करने से रोकने के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने नीदरलैंड को चेतावनी दी है कि उसे संबंध खराब करने की कीमत अदा करनी होगी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा कि हम उन्हें अंतरराष्ट्रीय कूटनीति का सबक सिखाएंगे। ‘इस्तांबुल में एक समारोह के दौरान उन्होंने कहा कि वह कोई भी फैसला बुधवार को होने वाले हॉलैंड के चुनाव परिणाम आने के बाद करेंगे।

तुर्क राष्ट्रपति का कहना था कि ‘पिछले कुछ दिनों में पश्चिम ने बहुत स्पष्ट हो के अपना असली चेहरा दिखाया है। जब से घटनायें शुरू हुए हैं मैंने हमेशा कहा कि फासीवादी दबाव है। मेरा विचार था कि फासीवाद समाप्त हो गया लेकिन मैं गलत था। दरअसल पश्चिम में यह अभी भी जीवित है। मेरी बहन, हमारी महिला मंत्री को अपने ही देश के दूतावास की इमारत में राजनयिक गाडी में प्रवेश करने से कोई देश कैसे रोक सकता है। आखिर ख़ुलासा करे यह क्या है? ‘

याद रहे कि नीदरलैंड में तुर्की के एक मंत्री को निर्वासित किए जाने के बाद वहां तुर्क प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पें हुई हैं।उधर तुर्क मंत्री के निर्वासन पर तुर्क प्रधानमंत्री बिन अली यलदरम ने कहा है कि उनका देश इस ‘अस्वीकार्य व्यवहार’ का ‘सख्त तरीके’ से जवाब देंगे।

रॉटरडैम में शनिवार देर रात तुर्क वाणिज्य दूतावास के बाहर विरोध करने वाले लगभग एक हजार प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए जल तोपों और घुड़सवार पुलिस भी इस्तेमाल किया गया।

तुर्क मंत्री फातिमा बतूल सायान काया तुर्की में राष्ट्रपति एर्दोगान के इखतियारात में बढ़ोतरी के लिए होने वाले जनमत संग्रह के संबंध में रॉटरडैम में रहने वाले निवासियों का समर्थन हासिल करने के लिए आई थीं।डच सरकार का कहना है कि इस तरह की रैलियों से नीदरलैंड में आम चुनाव से पहले तनाव में वृद्धि हो सकती है।

Top Stories